मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, कोरोना से अनाथ बच्चों को दिया जाएगा 5 लाख रुपए का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा

कोरोना वायरस के चलते अनाथ हुए बच्चों के लिए मोदी सरकार ने बढ़ाया हाथ, दिया जाएगा पांच लाख रुपए का फ्री हेल्थ इंश्योरेंस, पीएम केयर्स फंड से होगा प्रीमियम का भुगतान

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus in india ) की वजह से देशभर में कई बच्चों के सिर से अपनों का साया उठ गया। ऐसे अनाथ हुए बच्चों को लेकर अब केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है।

इन बच्चों की मदद से लिए मोदी सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। कोरोना संक्रमण के चलते अनाथ हुए बच्चों को केंद्र सरकार पांच लाख रुपए का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा देगी। खास बात यह है कि इस बीमा का प्रीमियम पीएम केयर्स फंड (PM Cares Fund) से भरा जाएगा।

यह भी पढ़ेंः महिलाओं के पास है आधार कार्ड तो LIC की खास योजना बना देगी धनवान, जानिए कैसे

वयस्क होने तक मिलेगा फायदा
केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि कोविड 19 की वजह से अनाथ हुए बच्चों को 18 वर्ष की उम्र तक आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख रुपए तक का फ्री हेल्थ इंश्योरेंस दिया जाएगा।

23 की उम्र में मिलेंगे 10 लाख रुपए
भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र की ओर से उठाए गए कदमों को लेकर अनुराग ठाकुर ने एक सरकारी वेबसाइट के लिंक के साथ ट्विटर पर योजना का विवरण पोस्ट किया।

इस ट्वीट में उन्होंने एक तस्वीर भी पोस्ट की है, इस तस्वीर में लिखा है, 18 वर्ष तक के बच्चे जो कोरोना संक्रमण से अपने माता पिता को खो चुके हैं उन्हें हर महीने राहत दी जाएगी।
वहीं उन्होंने ये भी बताया कि 23 साल की उम्र में इन बच्चों को 10 लाख रुपए की सहायता राशि के तौर पर दिए जाएंगे।

मई 2021 में पीएम मोदी ने शुरू की योजना
दरअसल कोरोना संकट के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने इसी वर्ष मई के महीने में बच्चों के लिए पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रेन योजना की शुरुआत की थी।

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार के लिए बहुत खास है 5 अगस्त, तीन में से दो वादे इसी दिन पूरे किए

ये योजना का मकसद
इस योजना का मकसद बच्चों की मदद करना है। 11 मार्च 2020 के बाद महामारी में अपने माता-पिता को या कानूनी माता-पिता खो देने वाले बच्चों की देखभाल करना इस योजना का उद्देश्य है।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned