लॉकडाउन में गरीबों का अन्नदाता बना ‘मुंबई रोटी बैंक’, रोजाना 35,000 लोगों को खिला रहा खाना

  • कोरोना संक्रमण के चलते देश में 3 मई तक देशव्यापी लॉकडाउन लागू
  • मुंबई रोटी बैंक रोजाना लगभग 35 हजार गरीब लोगों को खिला रहा खाना

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 3 मई तक देशव्यापी लॉकडाउन ( Nationwide lockdown ) लगाया हुआ है।

ऐसे में लोगों से जहां घरों में ही रहने की अपील की गई है, वहीं कुछ अप्रवासी लोगों ( Immigrant people ) के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

लेकिन ऐसे जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए कुछ सरकारी व गैर-सरकारी संगठन आगे आए हैं। महाराष्ट्र में कुछ ऐसा ही काम 'मुंबई रोटी बैंक' ( Mumbai Roti Bank ) कर रहा है।

यह संगठन लॉकडाउन ( Lockdown ) के बीच मुंबई में रोजाना लगभग 35 हजार गरीब और जरूरतमंद लोगों को खाना खिला रहा है।

Coronavirus: दिल्ली के LNJP हॉस्पिटल में डॉक्टरों से हाथापाई, बोले- ऐसे हालात में काम करना मुश्किल

jj.png

दरअसल, ‘मुंबई रोटी बैंक’ की स्थापना महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी डी शिवानंदन ने 26 मार्च, 2018 को की थी।

स्थापना से लेकर अब तक इस संगठन ने मुंबई व आसपास के इलाकों में लगभग 5.3 लाख लोगों को भोजन कराया है।

लॉकडाउन के बीच भी शिवानंदन का यह संगठन हर रोज 35 हजार लोगों के खाने का प्रबंध कर रहा है।

शिवानंदन के अनुसार यह समय गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद के परिप्रेक्ष्य में भोजन से भरी थाली और खाली प्लेटों के बीच के बीच के अंतर को खत्म करने का है।

मुख्तार अब्बास नकवी का OIC को जवाब- 'इस्‍लामोफोबिया नहीं, मुस्लिमों के लिए स्वर्ग है भारत

v.png

मुंबई के साथ ही यह संगठन नागपुर में भी सक्रिय है और रोजाना 2500 लोगों को खाना खिला रहा है। शिवानंदन ने बताया कि अब वह पुणे में भी संगठन के माध्यम से लोगों की सेवा करना चाहते हैं।

लेकिन वहां लोगों की कमी की वजह से थोड़ी मुश्किलें आ रही है। उन्होंने बताया कि मुंबई घनी आबादी वाला शहर है, इसलिए यहां हम हर किसी के पास नहीं जा सकते।

लोग खुद हमसे संपर्क करते हैं और उनकी जरूरत के हिसाब से भोजपा उपलब्ध करा दिया जाता है।

दिल्ली मौसम विभाग के बाद लोकसभा सचिवालय में कोरोना की दस्तक, कर्मचारी में संक्रमण की पुष्टि

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned