आतंक के खिलाफ भारत को मिला अमरीका का साथ, पाकिस्तान पर हो सकता है डबल अटैक

आतंक के खिलाफ भारत को मिला अमरीका का साथ, पाकिस्तान पर हो सकता है डबल अटैक

Mohit sharma | Publish: Feb, 28 2019 10:34:28 AM (IST) | Updated: Feb, 28 2019 12:47:29 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

भारतीय एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाया पाकिस्तान अब चारों तरफ से घिर गया है। अमरीका समेत दुनिया तमान बड़े देश आतंक के खिलाफ भारत के साथ आते नजर पड़ रहे हैं।

नई दिल्ली। भारतीय एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाया पाकिस्तान अब चारों तरफ से घिर गया है। अमरीका समेत दुनिया तमान बड़े देश आतंक के खिलाफ भारत के साथ आते नजर पड़ रहे हैं। यही वजह है कि इंडियन पायलट को बंधक बनाकर पाकिस्तान आग से खेल रहा है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने बुधवार देर रात अमरीका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो से बातचीत की। एनएसए डोवाल ने यूएस विदेश मंत्री को भारत-पाकिस्तान के ताजा हालातों से अवगत कराया।

पाकिस्तान को भारत की चेतावनी, हमारे पायलट को नुकसान न पहुंच पाए

आतंकी संगठनों पर कूटनीतिक और सैन्य कार्रवाई करने को तैयार भारत

अजित डोभाल ने कहा है कि भारत आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान में पल रहे आतंकी संगठनों पर कूटनीतिक और सैन्य कार्रवाई करने को तैयार है। अमरीकी विदेश मंत्री ने इस बात पर भारत का समर्थन किया है। यही नहीं अमरीका ने भारत के साथ खड़ा होने की बात भी कही है। अजित डोभाल ने माइक पॉम्पियो को भारतीय एयरस्ट्राइक और पाकिस्तान में घुसकर जैश के ठिकानों को तबाह करने की जानकारी दी। आपको बता दें कि आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान विश्व समूदाय के सामने बेनकाब होता नजर आ रहा है। अमरीका और आॅस्ट्रेलिया समेत कई देशों ने भारत का समर्थन किया है।

पाकिस्तान ने एलओसी पर शुरू की गोलीबारी, भारतीय जवानों ने दिया मुंहतोड़ जवाब

पायलट को कोई नुकसान न पहुंचने पाए

इसके साथ ही चीन और रूस ने भी दोनों देशों से शांति से निपटने की अपील की है। वहीं, पाकिस्तान ने एक तस्वीर जारी का इंडियन पायलट को अपने कब्जे में होने का दावा किया था। भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के कार्यवाहक उच्चायुक्त को सख्त संदेश देते हुए कहा कि पायलट को कोई नुकसान न पहुंचने पाए। आपको बता दें कि पाक अधिकृत कश्मीर में जैश के ठिकाने तबाह होने के बाद पाकिस्तान बोखला गया है। यह वजह है कि उसने बुधवार सुबह भारतीय सीमा में घुसकर सैन्य ठिकानों पर हमले का प्रयास किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned