चाइना का सामान लेकर कश्मीर में प्रवेश कर रहे पाकिस्तानी आतंकी

Highlights.

  • - सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया, SOG के दो जवान भी मुठभेड़ में घायल
  • - जम्मू-कश्मीर में पहली बार DDC के चुनाव होने वाले हैं, मतदान 28 नवंबर से 19 दिसंबर तक आठ फेज होगा, 22 दिसंबर को नतीजों का ऐलान
  • - पाकिस्तान चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए ‘बड़ी साजिश’ के तहत आतंकियों को यहां भेजने का प्रयास कर रहा है

नई दिल्ली।

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनावों को प्रभावित करने की ‘बड़ी साजिश’ उस समय नाकाम हो गई जब सुरक्षा बलों ने जैश-ए-मोहम्मद के चार आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया। हालांकि, एसओजी के दो जवान भी इस मुठभेड़ में घायल हुए हैं।

जम्मू- कश्मीर में पहली बार डीडीसी के चुनाव होने वाले हैं। मतदान 28 नवंबर से 19 दिसंबर तक आठ फेज में होगा। 22 दिसंबर को नतीजों का ऐलान किया जाएगा। पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने सोमवार को कहा था कि पाकिस्तान चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए ‘बड़ी साजिश’ के तहत आतंकियों को यहां भेजने का प्रयास कर रहा है।

जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाइवे
स्थित नगरोटा में बान टोल प्लाजा के पास यह मुठभेड़ हुई। खुफिया सूचना के बाद सुरक्षाबल बान टोल प्लाजा के पास नाका लगाकर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। सुबह पांच बजे के करीब चावल से लदे एक ट्रक में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों का समूह जम्मू-श्रीनगर हाइवे के रास्ते कश्मीर जा रहा था। ट्रक को नाके पर रोका गया और चेकिंग की गई। चेकिंग के दौरान ट्रक में सवार आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। फायरिंग करते हुए आतंकी जंगल की तरफ भाग निकले। जवानों ने तलाशी अभियान शुरू किया। इस दौरान आतंकियों ने फिर से सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए चारों आतंकियों को मार गिराया। एसओजी के दो जवान घायल हुए हैं।

बरामद जखीरा ‘मेड इन चायना’

जम्मू के नगरोटा में आतंकियों के पास मिले हथियारों की लिस्ट लगातार बड़ी होती जा रही है। जखीरे में मिले कई सामान पर ‘मेड इन चायना’ लिखा है। आतंकियों के पास से आरडीएक्स, 6 एके-56 राइफल, मोबाइल सेल, मैगजीन भी बरामद हुए हैं। खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के मुताबिक मारे गए चारों आतंकी जैश के हैं और पाकिस्तानी हैं। वे डीडीसी चुनाव में हमले की फिराक में थे। साजिश पाक में बैठे जैश सरगना मसूद अजहर के भाई रऊफ लाला ने रची थी। चारों ने मंगलवार-बुधवार की रात भारत सीमा से घुसपैठ की थी। सूत्रों के मुताबिक रऊफ कुछ दिन पहले सांबा व हीरानगर सेंटर के उस पार पाक में देखा गया था।

पहले से तैयार थी पुलिस

इसकी जानकारी बुधवार को ही सुरक्षा एजेंसियों व पुलिस से साझा कर ली गई थी। जम्मू के आइजी मुकेश सिंह की अगुआई में एसएसपी श्रीधर पाटिल और एसपी नरेश सिंह ने पूरे एनकाउंटर को खुद अंजाम दिया। आतंकी दो ग्रुप में बंटे थे।

4 कश्मीरियों सहित पांच की तलाश

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के दिल्ली नेटवर्क का खुलासा हुआ है। दिल्ली निवासी एक शख्स के तार बीते दिन गिरफ्तार जैश के दो आतंकियों से जुड़े हैं। इस शख्स की लोकेशन कई बार बांग्लादेश बॉर्डर पर मिली है। जांच एजेंसियों को दिल्ली में एक और कश्मीर में 4 लोगों की तलाश है। दिल्ली में पकड़े गए जैश के आतंकियों के मोबाइल से बड़ा खुलासा हुआ है। दिल्ली का शख्स और गिरफ्तार आतंकी वाट्सएप ग्रुप ‘जेहाद’ से जुड़े थे।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned