PM Narendra Modi ने देश को किया संबोधित, जानें PM के भाषण की 10 बड़ी बातें

  • PM Modi ने देशवासियों को त्यौहारों के दौरान और अधिक सावधानी बरतने की अपील की
  • PM Narendra Modi ने कहा कि लॉकडाउन भले चला गया है, लेकिन वायरस नहीं गया है

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) ने मंगलवार को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान देशवासियों को आगामी त्यौहारों के दौरान और अधिक सावधानी बरतने की अपील की। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लॉकडाउन भले चला गया है, लेकिन वायरस नहीं गया है।

1— जनता कर्फ्यू का किया जिक्र

प्रधानमंत्री मोदी ने देश के नाम अपने संदेश में कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए जनता कर्फ्यू से लेकर आज की तारीख तक हम सभी भारतीय ने एक लंबा सफर तया किया है। हालांकि अब धीरे-धीरे आर्थिक गतिविधियों में भी तेजी लाने का प्रयास किया जा रहा है।
2-भारत में स्थिति संभली

पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज हम अपने फैमिली और जीवन की तमाम जिम्मेदारियों के लिए घरों से बाहर निकल रहे हैं। लेकिन हमें याद रखना होगा कि लॉकडाउन भले चला गया हो, कोरोना वायरस नहीं गया है। पिछले 7-8 महीनों में, हर भारतीय के प्रयास से, भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं, हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है।
3— रिकवरी रेट पर जताया संतोष

प्रधानमंत्री मोदी ने देश में कोरोना से बने हालातों का जिक्र करते हुए कहा कि आज देश में रिकवरी रेट सुधरा है। कोरोना से मौतों में भी कमी आई है। दुनिया के अति सक्षम देशों के मुकाबले भारत अपने लोगों की जान बचाने में सफल रहा है। कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में टेस्ट की बढ़ती संख्या हमारी एक बड़ी ताकत रही है।
4— सेवा परमो धर्म:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेवा को सबसे बड़ा धर्म बताया। उन्होंने कहा कि सेवा परमो धर्म: के मंत्र का अनुशरण करने हुए हमारे डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टॉफ और स्वास्थ्यकर्मियों ने इतनी बड़ी आबादी की बिना किसी स्वार्थ के सेवा कर रहे हैं। हमारे कोरोना योद्धाओं के इन प्रयासों के बीच यह समय लापरवाह होने का नहीं है। हमें अभी यह नहीं मानना है कि कोरोना वायरस चला गया है। या फिर अब कोरोना से कोई खतरा नहीं है।

5—देशवासियों को चेताया
कोरोना महामारी में लापरवाही बरत रहे लोगों के प्रति प्रधानमंत्री ने नाराजगी भी जताई। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में हमनें न जाने ऐसी कितने तस्वीरें और वीडियो देखे जिनमें साफ नजर आ रहा है कि लोग अब लापरवाह हो गए हैं। लेकिन ये ठीक नहीं है। अगर आप लापरवाही बरतने लगोगे तो समझों कि ऐसा करने से आप न केवल खुद बल्कि अपने परिजनों का भी जीवन दांव पर लगा रहे हो।

6—वैक्सीन पर रहा फोकस
प्रधानमंत्री ने कहा कि आप देखें आज अमरीका हो या फिर यूरोप के देश, इन देशों में कोरोना केसों में कमी देखने को मिली थी, लेकिन यहां फिर से कोरोना लौटने लगा है। इसलिए जब तक सफलता पूरी तरह से न मिल जाए, तब तक लापरवाही नहीं करनी चाहिए। जब तक कोरोना महामारी की वैक्सीन नहीं आ जाती, हमें कोरोना से अपनी लड़ाई को कमजोर नहीं पड़ने देना है।


7— एडवांस स्टेज में वक्सीन का ट्रायल
प्रधानमंत्री ने कहा कि एक अरसे बाद हमने देखा है कि मानवता को बचाने के लिए युद्धस्तर पर काम हो रहा है। भारत ही नहीं, दुनिया के तमाम देश कोरोना से निपटने के लिए प्रयास कर रहे हैं। हमारे देश के महान वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने के लिए पूरी मेहनत से जुटे हैं। भारत में अभी कोरोना वैक्सीन्स का काम एडवान्स स्टेज पर हैं।

8—वैक्सीन को हर भारतीय तक पहुंचाना चुनौती

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन जब भी आएगी, वो पूरी शीघ्रता के साथ लोगों तक पहुंचाई जाएगी। इसके लिए भारत सरकार की तैयारी पूरी है। सरकार देश के एक-एक नागरिक तक वक्सीन पहुंचाने का काम करेगी।

9— सर्तकता को बनाए जीवन का अंग
उन्होंने कहा कि आज हम मुश्किल समय से निकलकर पुन: आगे बढ़ रहे हैं। लेकिन थोड़ी सी भी लापरवाही हमारी रफतार को रोक सकती है, हमारी खुशियों में सेंध लगा सकती है। कर सकती है। जीवन की ज़िम्मेदारियों को निभाना और सतर्कता ये दोनो साथ साथ चलेंगे तभी जीवन में ख़ुशियाँ बनी रहेंगी।

10— दो गज की दूरी को बताया महत्वपूर्ण

प्रधानमंत्री ने कहा कि दो गज की दूरी, साबुन से हाथ धुलना और मास्क का ध्यान रखिए

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned