पीएम मोदी ने धार्मिक नेताओं से की अपील, कोरोना वैक्सीन के प्रति झिझक दूर करने में करें मदद

पीएम ने धार्मिक और सामुदायिक नेताओं से वैक्सीन के प्रति फैलाये जा रहे दुष्प्रचारों के खिलाफ आम जनता को सतर्क करने और टीकाकरण के लिए तैयार करने की अपील की है।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस (coronavirus) से बचाव को लेकर चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान की धीमी रफ्तार को लेकर सरकार चिंतित है। इस मामले में पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को धार्मिक और सामुदायिक नेताओं के साथ बैठक की और उनसे टीके के प्रति लोगों की झिझक को दूर करने में सहायता की अपील की है। वहीं, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना की तीसरी लहर से बचाव को लेकर अभी से चार लाख स्वास्थ्य स्वयंसेवकों को प्रशिक्षित करने का अभियान शुरू किया है। ये गांव-गांव में मौजूद होंगे।

ये भी पढ़ें: ICMR Serosurvey: केरल में सबसे कम कोविड एंटीबॉडी पाई गईं, मध्य प्रदेश में सबसे अधिक

पीएम ने कोरोना वायरस के दौरान मंदिरों, गुरुद्वारों, मस्जिदों और गिरिजाघरों सहित कई धार्मिक स्थलों में मरीजों के इलाज का प्रबंध करने के साथ जरूरतमंदों को हर तरह की मदद उपलब्ध कराने के लिए धार्मिक संगठनों और नेताओं के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने इसे 'एक भारत, एकनिष्ठ भारत' का बेहतरीन उदाहरण बताया। पीएम ने अब उनसे वैक्सीन के प्रति फैलाये जा रहे दुष्प्रचारों के खिलाफ आम जनता को सतर्क करने और टीकाकरण के लिए तैयार करने की अपील की है। पीएम ने कहा कि टीकाकरण कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अहम हथियार है और इसके जरिए सभी देशवासियों को सुरक्षित करना जरूरी है। पीएम ने धार्मिक नेताओं को संदेश दिया कि भारत किस तरह दो-दो स्वदेशी वैक्सीन तैयार करने में सफल रहा है।

ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर से आतंकियों का हो रहा सफाया, जून 2021 तक 32 फीसदी कम हुई आतंकवादी घटनाएं

आजादी के अमृत महोत्सव में भी बढ़ाएं भागीदारी

वैक्सीन को लेकर लोगों में उदासीनता को भगाने के लिए प्रधानमंत्री ने धार्मिक नेताओं से आजादी के 75वें साल के समारोह में भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की। उन्होंने कहा, 'आजादी के अमृत महोत्सव' में सभी की भागीदारी के साथ ही 'भारत जोड़ो आंदोलन' से जुड़ने को कहा। बैठक में केंद्रीय धार्मिक जन मोर्चा के संयोजक व जमात-ए-इस्लामी हिंद के उपाध्यक्ष सलीम इंजीनियर, भारतीय सर्व धर्म संसद के राष्ट्रीय संयोजक महाऋषि पीठाधीश्वर गोस्वामी सुशील महाराज सहित करीब एक दर्जन से अधिक धार्मिक नेता शामिज हुए।

भाजपा का मकसद लोगों की सेवा करना

नड्डा के अनुसार भाजपा सिर्फ एक राजनीतिक दल नहीं है, बल्कि उसका मूल मकसद लोगों की सेवा करना है। सभी प्रशिक्षित स्वयंसेवकों को किट भी दिए जाएंगे। इसमें पल्स आक्सीमीटर, थर्मामीटर, रैपिड एंटीजन टेस्ट किट के साथ जरूरी उपकरण होंगे। इस दौरान वे संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराने में भी सहायता करेंगे।

PM Narendra Modi
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned