प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इशारों-इशारों में Baba Ramdev के दावे पर वार

  • पीएम मोदी ( pm modi ) ने बाबा रामदेव ( baba ramdev patanjali ) पर निशाना साधते हुए कहा- दो गज की दूरी ही इलाज ( Coronavirus Medicine )।
  • अमरीका ( coronavirus cases in america ) और यूके की तुलना में उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी ( Coronavirus Cases in India ) के आंकड़े बेहद कम।
  • आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोज़गार अभियान ( aatm nirbhar uttar pradesh rojgar abhiyaan ) के तहत प्रधानमंत्री का भाषण।

 

 

नई दिल्ली। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोज़गार अभियान ( aatm nirbhar uttar pradesh rojgar abhiyaan ) के तहत अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( pm modi ) ने इशारों-इशारों में बाबा रामदेव के दावे को ख़ारिज कर दिया। बाबा रामदेव ( baba ramdev patanjali ) ने कोरोना वायरस के इलाज के लिए दवा ( Coronavirus Medicine ) बनाने का दावा किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने वक्तव्य में साफ़ कहा कि दुनियाभर में कोरोना कि कोई भी दवा नहीं बन पाई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें नहीं मालूम की इस बीमारी ( Coronavirus Cases in India ) से कब मुक्ति मिल पाएगी। लंबे समय तक दो गज की दूरी और फ़ेस मास्क ही कोरोना एकमात्र इलाज है।

Unlock 2.0 की घोषणा 30 जून को! इन जरूरी सेवाओं पर होगा मुख्य फोकस

इस दौरान पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत में कहा, "हम सभी ने अपने व्यक्तिगत जीवन में अनेक उतार-चढ़ाव देखे हैं। हमारे सामाजिक जीवन में भी, गांव में, शहर में, अलग-अलग तरह की कठिनाइयां आती ही रहती हैं। लेकिन ये किसी ने नहीं सोचा था कि पूरी दुनिया पर, पूरी मानव जाति पर एक साथ एक ही तरह का इतना बड़ा संकट आएगा। एक ऐसा संकट जिसमें चाहकर भी लोग दूसरों की पूरी तरह मदद नहीं कर पा रहे थे। इस दौरान शायद ही कोई होगा जिसे परेशानी नहीं हुई हो।"

उन्होंने आगे कहा, "बच्चे हो-बुजुर्ग हो, महिलाएं हों-पुरुष हों, देश हो या दुनिया, हर किसी को दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। आगे भी हमें नहीं पता कि इस बीमारी से कब मुक्ति मिलेगी। हां, इसकी एक दवाई हमें पता है। ये दवाई है दो गज की दूरी। ये दवाई है- मुंह ढकना, फेसकवर या गमछे का इस्तेमाल करना। जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं बनती, टीका नहीं बनता है। हम इसी दवा से इसे रोक पाएंगे।"

पीएम ने दुनिया के ताकतवर मुल्कों का जिक्र करते हुए कहा, "हम यूरोप के चार बड़े देशों को देखें तो वो हैं-इंग्लैंड, फ्रांस,इटली और स्पेन! ये देश 200-250 साल तक दुनिया की सुपर पावर हुआ करते थे। आज अगर इन चारों देशों की कुल जनसंख्या को जोड़ दें, तो ये करीब 24 करोड़ होती है। हमारे तो अकेले यूपी की ही जनसंख्या 24 करोड़ है। लेकिन कोरोना से इन चार देशों में मिलाकर 1 लाख 30 हजार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि यूपी में केवल 600 लोगों की जान गई है। मैं मानता हूं एक भी व्यक्ति की मृत्यु दुखद है।"

कोरोना वायरस के कहर के बीच आई बड़ी खबर, दुनिया भर में अब सबकी निगाहें भारत की ओर

अमरीका की बात करते हुए पीएम ने कहा, "अमरीका ( coronavirus cases in america ) के पास साधन-संसाधन और आधुनिक टेक्नोलॉजी की भी कोई कमी नहीं है। लेकिन फिर भी आज अमरीका कोरोना से बेहद बुरी तरह प्रभावित है। आप ये भी याद रखिए कि अमरीका की जनसंख्या करीब 33 करोड़ है जबकि यूपी में 24 करोड़ लोग रहते हैं। लेकिन अमरीका में अब तक 1 लाख 25 हजार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि यूपी में करीब 600 लोगों की मृत्यु हुई है।"

पीएम मोदी ने यूपी सरकार के लिए कहा, "अगर योगी जी की उत्‍तर प्रदेश सरकार ने सही से तैयारी नहीं की होती, अगर यूपी में भी अमरीका की तरह ही तबाही मची होती तो आज यूपी में 600 की जगह 85,000 लोगों की जान जा सकती थी। लेकिन, जो मेहनत यूपी की सरकार ने की है, हम कह सकते हैं कि एक प्रकार से अब तक कम से कम 85 हजार लोगों का जीवन बचाने में वो कामयाब हुई है।"

pm modi Coronavirus Cases in India
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned