ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की मीटिंग, गृह मंत्रालय ने जारी किए नए आदेश

बैठक में उन्होंने अधिकारियों से देशभर में ऑक्सीजन की डिमांड तथा सप्लाई को लेकर समीक्षा की तथा अधिकारियों को यथासंभव ऑक्सीजन की सप्लाई में तेजी लाने के निर्देश दिए।

नई दिल्ली। देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच बहुत से हॉस्पिटल्स में ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी ने आज एक हाईलेवल मीटिंग की। इस बैठक में उन्होंने अधिकारियों से देशभर में ऑक्सीजन की डिमांड तथा सप्लाई को लेकर समीक्षा की तथा अधिकारियों को यथासंभव ऑक्सीजन की सप्लाई में तेजी लाने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें : Coronavirus: ऑक्सीजन-दवाओं की कमी पर SC का केंद्र को नोटिस, कल होगी सुनवाई

मीटिंग में अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को बताया कि विभिन्न राज्यों के बीच तालमेल बिठाया जा रहा है। समीक्षा के बाद पीएम ने ऑक्सीजन के प्रोडक्शन को बढ़ाकर सभी राज्यों तक सुचारू रूप से पहुंचाने तक की आवश्यकता पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को भी ऑक्सीजन की जमाखोरी रोकने की आवश्यकता है ताकि सही व्यक्ति तक ऑक्सीजन की सप्लाई हो सके।

यह भी पढ़ें : सिसोदिया ने वीडियो जारी कर केन्द्र सरकार से मांगी मदद, दिल्ली हाईकोर्ट ने भी दिए तुरंत ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के निर्देश

ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए गृह मंत्रालय ने जारी किए नए आदेश, इंडस्ट्रीज पर लगाई रोक
देश में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए केन्द्र सरकार के गृह मंत्रालय ने अगले आदेश तक इंडस्ट्रीज को औद्योगिक ऑक्सीजन की सप्लाई किए जाने पर रोक लगा दी है। हालांकि कुछ इंडस्ट्रीज को सशर्त छूट दी गई है। गृह मंत्रालय द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि मेडिकल ऑक्सीजन के ट्रांसपोर्टेशन में किसी भी तरह की रुकावट नहीं आनी चाहिए।

आदेश के संबंध में गृह सचिव ने पत्र लिख कर कहा कि किसी भी ऑक्सीजन सप्लायर या मैन्यूफैक्चरर पर किसी भी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं होना चाहिए ताकि वे अपने गृहराज्य के अलावा अन्य राज्यों को ऑक्सीजन सप्लाई कर सके। आदेश में स्थानीय प्रशासन को भी कहा गया है कि मेडिकल ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने वाले व्हीकल्स पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाया जाए।

pm modi
सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned