scriptproblem in the nails of many patients who have been cured of corona | मुसीबत: कोरोना से ठीक हो चुके कई मरीजों के नाखूनों में आ रही दिक्कत, विशेषज्ञों ने नाम दिया कोविड नेल्स | Patrika News

मुसीबत: कोरोना से ठीक हो चुके कई मरीजों के नाखूनों में आ रही दिक्कत, विशेषज्ञों ने नाम दिया कोविड नेल्स

ऐसे लोग जो कोरोना संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं, उनके नाखून या तो कमजोर होकर जड़ से उखड़ रहे हैं या फिर उनकी चमक खत्म हो रही है, यानी अब नाखून पूरी तरह स्वस्थ्य नहीं रह पाते।

 

नई दिल्ली

Published: June 17, 2021 01:48:47 pm

नई दिल्ली।

भारत में करीब डेढ़ साल पहले जब कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण शुरू हुआ, तब से अब तक बहुत से ऐसे सवाल पैदा हो गए हैं, जिनका जवाब विशेषज्ञ नहीं तलाश पा रहे। सबसे पहले, तो वायरस का स्वरूप भी इतनी तेजी से बदल रहा है कि मरीजों में उसके लक्षण समझने में काफी मुश्किल हो रही है। इनमें न्यूरो, आंख, नाक, स्वाद को लेकर जीभ और पेट से जुड़ी समस्याएं भी देखने को मिल रही हैं। हाल ही में एक नई परेशानी और सामने आई है और वह नाखूनों से जुड़ी है।
covid_nails.jpg
नाखूनों से पता लगती है व्यक्ति की सेहत
विशेषज्ञों के मुताबिक, ऐसे लोग जो कोरोना संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं, उनके नाखून या तो कमजोर होकर जड़ से उखड़ रहे हैं या फिर उनकी चमक खत्म हो रही है, यानी अब नाखून पूरी तरह स्वस्थ्य नहीं रह पाते। दरअसल, व्यक्ति स्वस्थ्य है या नहीं, यह उसके नाखूनों से भी पता लग जाता है। यदि नाखूनों में पीलापन है, तो संबंधित व्यक्ति को पीलिया की आशंका रहती है। नाखून अगर सफेद पड़ रहा है, तो खून की कमी यानी एनिमिया की आशंका होती है। अब विशेषज्ञ नाखून देखकर कोरोना से ठीक होने के बाद व्यक्ति की सेहत कैसी है, इसका अनुमान भी लगा रहे हैं।
यह भी पढ़ें
-

कांग्रेस ने बताया-वैक्सीन लगवाते वक्त सोनिया गांधी ने फोटो क्यों नहीं खिंचवाई और राहुल ने वैक्सीन क्यों नहीं लगवाई

नाखूनों का रंग बदल रहा, धब्बे पड़ रहे
विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी कई लोग नाखूनों से जुड़ी परेशानियों से जूझ रहे हैं। यह समस्या महीनों तक रह सकती है। इसमें कमजोरी, नींद की शिकायत, नाखूनों का रंग बदलना, उनमें धब्बे पडऩा और ऊपरी परत का खुरदुरा होना भी शामिल है।
रक्त कोशिकाओं को हो रहा नुकसान
नाखूनों से जुड़ी समस्या पर विशेषज्ञों का कहना है कि यदि कोरोना निगेटिव हुए व्यक्ति के नाखून में नीचे से हल्के लाल या गुलाबी रंग का आकार बनता है, जो अद्र्धचंद्रमा जैसा होता है, तो इसे रेड हॉफ मून पैटर्न कहते हैं। वैसे, इस बात का अभी पता नहीं चल सका है कि ये लक्षण आखिर कुछ मरीजों में ही क्यों दिख रहे हैं। वैसे, विशेषज्ञों का अनुमान है कि नाखूनों में रेड हॉफ मून बनना इस बात का संकेत भी हो सकता है कि कोरोना संक्रमण के दौरान व्यक्ति की रक्त वाहिकाएं क्षतिग्रस्त हो गई हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोना वायरस शरीर के तमाम अंगों की तरह रक्त कोशिकाओं को भी नुकसान पहुंचा रही हैं।
यह भी पढ़ें
-

रिसर्च रिपोर्ट: स्पूतनिक-वी का टीका डेल्टा वेरिएंट पर किसी अन्य वैक्सीन की तुलना में ज्यादा प्रभावी

कोरोना से ठीक हो चुके कुछ लोग जब नाखून से जुड़ी समस्या लेकर डॉक्टरों के पास पहुंचे तो उनकी शिकायत है कि नाखूनों पर टेढ़ी-मेढ़ी रेखाएं उभर रही हैं। इसके अलावा, कुछ मरीज जड़ से नाखूनों के उखडऩे या फिर उसकी परत कमजोर होने की शिकायत लेकर भी डॉक्टरों के पास आ रहे हैं। डॉक्टर यह नहीं समझ पा रहे कि ये परेशानियां किस वजह से हो रही है। क्या यह दवाओं का असर है या फिर वायरस के रक्त कोशिकाओं और इससे जुड़े सिस्टम पर असर डाला है। विशेषज्ञों का कहना है कि नाखूनों पर रेखाओं का उभरना कोरोना से ठीक होने के करीब एक महीने बाद दिखाई देता है। यह लक्षण संभवत: वायरस की वजह से शरीर में आई कमजोरी या खानपान की वजह से हो सकता है। यह कुछ समय बाद बेहतर खानपान और स्वस्थ्य होने पर ठीक हो सकता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारबीजेपी सांसद ने कहा 'शराब औषधि समान, कम पीने से करती है औषधि का काम'जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.