पुणे: सीरम इंस्टीट्यूट प्लांट में लगी आग से 5 की मौत, जानिए कितनी सुरक्षित है कोरोना वैक्सीन?

  • सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के एक निमार्णाधीन भवन में आग लगने से पांच लोगों की मौत
  • राजेश टोपे ने घोषणा की कि आग की चपेट में आने से एक महिला सहित 5 लोगों की मौत हो गई

पुणे। वैक्सीन की दिग्गज कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (CII) के एक निमार्णाधीन भवन में गुरुवार दोपहर भीषण आग लगने की घटना में कम से कम पांच लोगों की दम घुटने से मौत हो गई। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ( Health Minister Rajesh Tope ) और पुणे के मेयर मुरलीधर मोहोल ( Pune Mayor Murlidhar Mohol ) ने घोषणा की कि आग की चपेट में आने से एक महिला सहित पांच व्यक्तियों की मौत हो गई और उनके शव को आग बुझाने के दौरान बरामद किया गया।वहीं आग की चपेट में आने से अन्य चार व्यक्तियों को बचाया गया, जो कि भवन की दो ऊपरी मंजिलों पर लगी। इसे बीसीजी वैक्सीन प्लांट ( BCG Vaccine Plant ) के लिए तैयार किया जा रहा था।

Good News: अब इंजेक्शन से नहीं नाक से दी जाएगी कोरोना वैक्सीन! Nasal vaccine के ट्रायल को मिली मंजूरी

कोविशील्ड के उत्पादन में कोई कमी नहीं आएगी

कंपनी द्वारा निर्मित किए जा रहे कोविड-19 टीकों पर चिंता जताते हुए, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस किया, जबकि सीआईआई के सीईओ अदार पूनावाला ने आश्वासन के लिए एक व्यक्तिगत बयान जारी किया। पूनावाला ने कहा, "मैं सरकार और जनता को आश्वस्त करना चाहूंगा कि बहुद्देश्यीय उत्पादन इमारतों की वजह से कोविशील्ड के उत्पादन में कोई कमी नहीं आएगी, जिसे मैं एसआईआई में ऐसी दुर्घटनाओं से निपटने के लिए रिजर्व रखता हूं।" शीर्ष अधिकारियों के साथ बात करने के बाद, ठाकरे ने कहा कि उन्होंने स्थिति की समीक्षा की है और उन्हें सूचित किया गया है कि कोविड-19 वैक्सीन उत्पादन किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है, और प्राथमिकता आग को नियंत्रण में लाना और लोगों को बचाना है।

Corona Vaccine से 600 लोगों को साइड इफेक्ट, जानिए इस मुद्दे पर क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री

बिहार: 'मैं तेजस्वी यादव बोल रहा हूं DM साहब' वीडियो वायरल, जानिए क्यों भड़के BJP और JDU

करीब एक दर्जन फायर टेंडरों ने काबू में कर लिया

इसी प्रकार, केंद्रीय मंत्री सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, स्वास्थ्य मंत्री टोपे और अन्य लोगों ने खुद सही जानकारी का पता लगाने के लिए सीआईआई के शीर्ष अधिकारियों से बातचीत की। दोपहर करीब 2.15 बजे लगी आग को तीन घंटे के भीतर दमकल की एक टीम और करीब एक दर्जन फायर टेंडरों ने काबू में कर लिया। घटना स्थल पर पहुंचे पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता ने कहा कि प्रभावित इमारत में बीसीजी वैक्सीन का निर्माण शुरू होने वाला था। गुप्ता ने मीडिया से कहा, "कंपनी ने हमें सूचित किया है कि कोविड-19 वैक्सीन सुविधा कम से कम एक किमी दूर है, और चिंता का कोई कारण नहीं है।" पुलिस और दमकल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इमारत के 4-5 मंजिल में वेल्डिंग का काम चल रहा था और आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट माना जा रहा है।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned