राहुल गांधी ने स्वीडन की रिपोर्ट का दिया हवाला, कहा-भारत नहीं रहा लोकतांत्रिक देश

Highlights

  • कांग्रेस नेता ने स्वीडन के एक मीडिया संस्थान की रिपोर्ट का हवाला देकर बात कही।
  • रिपोर्ट में कहा गया है कि पाक की तरह अब भारत भी निरंकुश देश है।

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने विवादित बयान देकर देश की सियासत को गर्मा दिया है। उन्होंने कहा कि भारत लोकतांत्रिक देश नहीं रहा है। यह बात उन्होंने स्वीडन के एक मीडिया संस्थान की रिपोर्ट का हवाला देकर कही है। राहुल गांधी ने रिपोर्ट का जिक्र किया। इसमें भारत में लोकतंत्र के दर्जे को घटाकर इलेक्टोरल ऑटोक्रेसी 'चुनावी एकतंत्रता' या चुनावी निरंकुशता करा गया है। राहुल गांधी ने गुरुवार को अपने ट्वीट के साथ एक फोटो भी शेयर किया है। इसमें लिखा है कि पाक की तरह अब भारत भी निरंकुश देश है।

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी के बयान के बाद एमपी में सियासी हलचल, अब समर्थकों ने की सिंधिया को सीएम बनाने की मांग

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत में सशक्त संस्थान हैं और सुस्थापित लोकतांत्रिक प्रक्रियाएं हैं। हमें उन लोगों के प्रवचन की आवश्यकता नहीं है, जिन्हें उनके मूलभूत अधिकार तक नहीं मिले हैं।

फ्रीडम हाउस ने भी घटाया था दर्जा

इससे पिछले सप्ताह भारत ने अमरीकी वॉचडॉग 'फ्रीडम हाउस' की रिपोर्ट पर सख्त प्रतिक्रिया व्यक्त की थी, इसमें भी भारत के लोकतांत्रिक दर्जे को घटाया गया था। इस अमरीकी संस्था ने भारत में लोकतंत्र और मुक्त समाज के दर्जे को घटाकर आंशिक रूप से मुक्त करार दिया था।

इस मामले में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव का कहना था कि अमरीकी संस्था का राजनीतिक फैसला अनुचित है। उन्होंने कोरोना वायरस महामारी का हवाला देकर कहा कि भारत ने इससे जिस ढंग से निपटने की कोशिश की है। उसकी हर जगह तारीफ हो रही है। भारत की संक्रमण दर व मृत्युदर बहुत कम है।

Congress
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned