एक हफ्ते में लगाए गए 4 करोड़ टीके, दिसंबर तक टीकाकरण का लक्ष्य पाने की दिशा में देश

सरकार के CoWIN प्लेटफॉर्म के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि 21 जून से केंद्रीकृत मुफ्त टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से पूरे देश में चार करोड़ कोविड वैक्सीन लगाए गए हैं, जो कि एक सप्ताह में अब तक लगाए गए टीके का सबसे उच्चतम आकंड़ा है।

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण के दूसरी लहर का प्रकोप अब धीमा पड़ चुका है, लेकिन तमाम स्वास्थ्य विशेषज्ञ और डॉक्टर्स अक्टूबर तक संभावित कोरोना संक्रमण के तीसरी लहर के आने को लेकर लगातार चेतावनी दे रहे हैं। ऐसे में केंद्र सरकार सभी राज्यों के साथ मिलकर अधिक से अधिक लोगों को कोरोना टीका लगाने की कोशिश में जुटी है।

केंद्र सरकार ने इस साल दिसंबर तक देश के सभी लोगों को टीका लगाने के लक्ष्य के साथ बीते 21 जून को मुफ्त महाटीकाकरण अभियान की शुरुआत की है। अब तक एक हफ्ते में पूरे देश में रिकॉर्ड स्तर पर टीकाकरण किया गया है। इससे ये माना जा रहा है कि सरकार अपने लक्ष्य को हासिल करने की ओर सही दिशा में तेजी के साथ आगे बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें :- भारत में COVID-19 के Delta+ वैरिएंट के 50 मामले दर्ज, अब तक 12 देशों में फैला

सरकार के CoWIN प्लेटफॉर्म के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि 21 जून से केंद्रीकृत मुफ्त टीकाकरण अभियान शुरू होने के बाद से पूरे देश में चार करोड़ कोविड वैक्सीन लगाए गए हैं, जो कि एक सप्ताह में अब तक लगाए गए टीके का सबसे उच्चतम आकंड़ा है।

 

दिसंबर तक 94 करोड़ व्यस्कों को टीका लगाने का लक्ष्य

जानकारी के मुताबिक, पिछले सप्ताह 19-25 जून के बीच कोविड वैक्सीन की 3.98 करोड़ डोज लगाए गए, जो कि 3-9 अप्रैल के बीच लगाए गए 2.47 करोड़ खुराक से करीब डोढ़ करोड़ डोज अधिक है। वहीं इससे पिछले सप्ताह 12-18 जून के बीच 2.12 करोड़ डोज लगाए गए थे।

एक सप्ताह के दौरान लगाए गए कोविड टीकों में 15-21 मई के बीच सबसे कम सिर्फ 92 लाख डोज लगाए गए थे। इसके बाद से सरकार ने पुराने टीकाकरण नीति को वापस ले लिया था और नई टीकाकरण नीति को लागू करते हुए पीएम मोदी ने 18-44 आयुवर्ग के लोगों को फ्री में टीका लगाने की घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें :- दस महीने में 43 बार कोरोना पॉजिटिव आया शख्स, परेशान होकर पत्नी से कहा- अब जीना नहीं चाहता..

एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी के मुताबिक, “जून में एक सप्ताह में हासिल किए गए लगभग चार करोड़ डोज रोजाना दिए जा रहे खुराक में लगातार वृद्धि को दर्शाते हैं। सरकार जुलाई के महीने में करीब 20 करोड़ और फिर अगस्त से हर महीने 30 करोड़ डोज लगाने की दिशा की ओर बढ़ रही है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि इस तरह से सही दिशा में बढ़ते टीकाकरण अभियान के जरिए देश के सभी 94 करोड़ वयस्कों को इस साल के अंत यानी दिसंबर तक पूरी तरह से टीका लगाया जा सकता है।

इन राज्यों में हुए सबसे अधिक टीकाकरण

जानकारी के मुताबिक, बीते सप्ताह (19 -25 जून) लगाए गए 3.98 करोड़ डोज में सबसे अधिक करीब 70 प्रतिशत टीकाकरण (2.74 करोड़) 18-44 आयु वर्ग के लोगों को लगाए गए। इनमें से करीब 89 प्रतिशत लोगों को कोविड की पहली खुराक लगाई गई। सरकार 45+ आयु वर्ग के प्राथमिकता वर्ग के टीकाकरण के साथ-साथ दूसरी खुराक पर भी जोर दे रही है, लेकिन मांग 18-44 आयु वर्ग और पहली खुराक के लिए स्पष्ट रूप से अधिक है।

सरकार की ओर से ये कहा जा रहा है कि जुलाई से टीकाकरण संख्या और अधिक बढ़ने की उम्मीद है, क्योंकि जुलाई तक वैक्सीन के प्रोडक्शन की क्षमता भी काफी अधिक बढ़ जाएगी। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में प्रति सप्ताह पांच करोड़ टीका लगाने का आंकड़ा पार कर सकता है, इसके लिए प्रतिदिन 10 लाख डोज लगाने के लक्ष्य को पूरा करना होगा। वहीं, राजस्थान ने भी केंद्र सरकार से कहा है कि आपूर्ति पर्याप्त होने पर उसके पास रोजाना 15 लाख लोगों का टीकाकरण करने की क्षमता है। CoWIN के अनुसार, राजस्थान में 25 जून को सबसे अधिक नौ लाख से अधिक डोज लगाए गए।

यह भी पढ़ें :- एक दिन में कोविड वैक्सीन की रिकॉर्ड 85 लाख डोज लगाए गए, जुलाई में 20-22 करोड़ खुराक उपलब्ध कराने का लक्ष्य

पिछले सप्ताह के दौरान सबसे ज्यादा डोज लगाने वाले राज्यों में उत्तर प्रदेश सबसे आगे (45 लाख) है। उसके बाद मध्य प्रदेश में 37 लाख, कर्नाटक में 31 लाख, महाराष्ट्र में 30 लाख, राजस्थान में 28 लाख और गुजरात में 26 लाख डोज लगाए लगाए गए हैं।

उत्तर प्रदेश में लगातार तेजी के साथ टीके लगाए जा रहे हैं। माना जा रहा है कि उत्तर प्रदेश अगले सप्ताह महाराष्ट्र से आगे निकल सकता है। उत्तर प्रदेश में अब तक करीब 2.99 करोड़ डोज लगाए गए हैं, जबकि महाराष्ट्र में 3.03 करोड़ लोगों को टीका लगाए गए हैं। उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन औसतन 7-8 लाख डोज लगाए जा रहे हैं, वहीं महाराष्ट्र करीब 5 लाख डोज हर दिन लगाए जा रहे हैं।

COVID-19 virus
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned