भारत का सीरम इंस्टीट्यूट 100 देशों को सप्लाई करेगा Corona Vaccine, यूनिसेफ के साथ एग्रीमेंट

  • भारत में कोरोना वैक्सीनेशन के अंतर्गत देश में अब तक 45 लाख को टीका लगा
  • दुनिया के कई देश कोरोना वैक्सीन खरीदने के लिए भारत से संपर्क बनाए हुए हैं

नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस ( Coronavirus in India ) के खिलाफ जंग जारी है। वैक्सीनेशन कार्यक्रम ( Corona Vaccination Program ) के अंतर्गत देश में अब तक 45 लाख लोगों को टीका लगाया जा चुका है। इस बीच वैक्सीन ( Corona Vaccine ) निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ( Serum Institute of India ) और युनिसेफ ने कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड और नोवावैक्स की लांग टर्म सप्लाई के लिए एक समझौता किया है। इस समझोते के अंतर्गत 100 देशों कों 1.1 बिलियिन डोज सप्लाई की जाएगी। आपको बता दें कि भारत दुनिया की दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माताओं में से एक समझा जाता है। यही वजह है कि दुनिया के कई देश कोरोना वैक्सीन खरीदने के लिए भारत से संपर्क बनाए हुए हैं।

Budget में Corona Vaccination के लिए 35 हजार करोड़ का प्रावधान, जानिए किसको लगेगी फ्री वैक्सीन?

सौ देशों को 1.1 बिलियन डोज सप्लाई का ऑर्डर दिया

दरअसल, देश में कोरोना की दो वैक्सीन कोविशिल्ड और कोवैक्सीन के आपात इस्तेमाल को मंजूरी मिली है। इसमें से ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड का निर्माध सीरम इंस्टीट्यूट पुणे द्वारा किया जा रहा है। जबकि कोरोना की दूसरी वैक्सीन नोवाक्स का उत्पादन अमरीका बेस्ड कंपनी नोवाक्स इंक द्वारा किया जा रहा है। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष यूनिसेफ के कार्यकारी निदेशक हेनरीटा फोर ने सीरम इंस्टीट्यूट के साथ इस समझौते की घोषणा की है। हेनरीटा फोर के अनुसार पैन अमरीका हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन समेत कई संगठनों के साथ मिलकर सौ देशों को 1.1 बिलियन डोज सप्लाई का ऑर्डर दिया है। इस समझोते की सबसे खास बात यह होगी कि इसके अंतर्गत निम्न व मध्य आय वर्ग के लोगों को टीका मिल सकेगा।

Budget 2021: आत्मनिर्भरता पर जोर, आयकरदाताओं को राहत नहीं, LIC में IPO, महंगा होगा मोबाइल

भारत ने अपनी आबादी के 40 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन दी

आंकड़ों के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका, इजरायल, ब्रिटेन और भारत ने अपनी आबादी के 40 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन दे दी है। भारत की तुलना में अमेरिका को इसमें 20 दिन लगे, जबकि इजरायल और ब्रिटेन प्रत्येक को इस आंकड़े तक पहुंचने में 39 दिन लगे। मंत्रालय के बयान में कहा गया है, "कई अन्य देशों ने लगभग 65 दिनों से टीकाकरण शुरू कर रखा है। भारत ने देशव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी, 2021 को शुरू किया है। यह वैश्विक महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में देश की महत्वपूर्ण उपलब्धि है।" पिछले 24 घंटों में 8,041 सत्रों में 3,10,604 लोगों को टीके लगाए गए हैं। अब तक 84,617 सत्र आयोजित किए जा चुके हैं। मंत्रालय ने यह भी बताया कि कोविड-19 का टीका प्राप्त करने वाले 55 प्रतिशत लाभार्थी 7 राज्यों से संबंधित हैं।4,63,793 टीकाकरण के साथ उत्तर प्रदेश शीर्ष पर है। इसके बाद राजस्थान 3,63,521, महाराष्ट्र 3,54,633, मध्य प्रदेश 3,30,722, कर्नाटक 3,16,638, गुजरात 3,11,251 और पश्चिम बंगाल 3,01,091 के साथ शीर्ष राज्यों की सूची में शामिल हैं। कुल टीकाकरण में इन राज्यों का क्रमश: 10.4, 8.2, 8, 7.4,7.1,7 और 6.8 प्रतिशत हिस्सा है।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned