सोनिया गांधी कोरोना के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार के प्रयासों से संतुष्ट

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी कोरोना के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार के प्रयासों से संतुष्ट है।
उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र में महागठबंधन सरकार पारदर्शी रूप में इस स्थिति को संभाल रही है।

नई दिल्ली। देशभर में महामारी कोरोना बेकाबू होता जा रहा है। देश के कई राज्यों हालत गंभीर बनी हुई है। कोरोना रफ्तार को रोकने के लिए पूरे देश में टीकाकरण किया जा रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने महाराष्ट्र सरकार को राज्य में टीकाकरण में तेजी लाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना विकराल रूप लेता जा रहा है, ऐसे में राज्य सरकार को कोविड के खिलाफ जारी जंग में तेजी आने की जरूरत है। उन्होंने राज्य सरकार से कहा कि सभी लोगों को जल्द ही जल्द टिकाकरण योजना में तेजी लाए। कांग्रेस अध्यक्ष कोरोना के खिलाफ राज्य सरकार के प्रयासों से संतुष्ट है।

यह भी पढ़ें :— विराफिन दवा से 7 दिन में कोरोना का मरीज ठीक होने का दावा, आपात इस्तेमाल के लिए मिली मंजूरी

कोरोना से महाराष्ट्र पूरी तरह प्रभावित
सोनिया गांधी ने कहा कि महाराष्ट्र COVID-19 के कारण सबसे बुरी तरह प्रभावित राज्यों में से एक है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि महाराष्ट्र में महागठबंधन सरकार पारदर्शी रूप में इस गंभीर स्थिति को संभाल रही है। उन्होंने उठाए गए उपायों के बारे में जानकारी ली और राज्य सरकार के प्रयासों के बारे में संतोष व्यक्त किया। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि सरकार 18 से 45 वर्ष की आयु के लोगों को मुफ्त टीकाकरण प्रदान करेगी। सरकार इस रणनीति पर फिर से विचार कर रही है।

यह भी पढ़ें :— दबाव के आगे झुका अमेरिका, भारत को कोरोना वैक्सीन के लिए कच्चा माल देने को तैयार

 

टीकों की एक समान कीमत सुनिश्चित करे मोदी सरकार
आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले दिनों टीकाकरण की नीतियों से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पत्र लिखकर आग्रह किया था। उन्होंने कहा था कि देश में टीकों की एक समान कीमत सुनिश्चित करे। टीकाकरण को लेकर कई राज्यों अपनी योजना बनाकर काम में कर रही है। एक मई से 18 साल की उम्र से अधिक लोगों के लिए टीकाकरण शुरू होने जा रहा है। इसके लिए कई राज्य सरकार फ्री टीकाकरण की घोषणा कर चुकी है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इस समय देश पर भारी संकट है। ऐसे में केंद्र सरकार को मदद के लिए आगे आना चाहिए। उन्होने प्रधानमंत्री से गुजारिश की है कि टिकाकरण की नीति में बदलकर देश में टीकों की एक समान कीमत सुनिश्चित करे। सोनिया गांधी ने केंद्र को 18 से 45 साल की उम्र के लोगों को मुक्त टीका उपलब्ध करवाना चाहिए। यह सरकार की जिम्मेदारी है, वह अपनी जिम्मेदारी से मुंह नहीं मोड़ सकती।

coronavirus
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned