scriptSupreme court demands removal of certain verses of Quran, know what is the reason | Supreme Court से कुरान की कुछ आयतें हटाने की मांग, जानिए क्या है कारण | Patrika News

Supreme Court से कुरान की कुछ आयतें हटाने की मांग, जानिए क्या है कारण

  • कुरान की कुछ आयतों को देश के लिए खतरा बताते हुए सुप्रीम कोर्ट से हटाने की मांग की गई
  • याचिका में कुरान पाक की 26 आयतों को किताब में बाद में जोड़े जानी वाली आयत बताया है

नई दिल्ली

Updated: March 11, 2021 08:51:36 pm

नई दिल्ली। कुरान पाक की कुछ आयतों को देश की एकता और अखंडता के लिए खतरा बताते हुए देश की सर्वोच्च अदालत से उनको हटाने की मांग की गई है। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है। याचिका में कुरान पाक की 26 आयतों को किताब में बाद में जोड़े जानी वाली आयत बताया है और याचिका दाखिल कर सुप्रीम कोर्ट से उनको हटाने की मांग की गई है। याचिकाकर्ता सैयद वसीन रिजवी ने बताया कि इतिहास जानता है कि इस्लाम के पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब हजरत अबू बकर को पहला खलीफा बनाया गया था। जिन्होंने उन चार लोगों को मोहम्मद साहब पर नाजिल अल्लाह पाक के द्वारा बोले गए वचनों को संकलित कर किताब की शक्ल देने को कहा था। तब से लेकर आज तक पैगंबर साहब के ये मौखिक संदेश पीढ़ी दर पीढ़ी याद किए जाते हैं।

Supreme Court से कुरान की कुछ आयतें हटाने की मांग, जानिए क्या है कारण
Supreme Court से कुरान की कुछ आयतें हटाने की मांग, जानिए क्या है कारण

West Bengal: चुनावी मैदान में उतरी BJP की 'सुपर 22 टीम', जानिए पार्टी ने किन नेताओं पर जताया भरोसा

याचिकाकर्ता ने बताया कि इस्लाम के तीसरे खलीफा हजरत उस्मान के समय में करीब 300 कुरान शरीफ प्रचलन में आ चुके थे, जो अलग अलग लोगों द्वारा समय-समय पर लिखे गए थे। उस जमाने में इस्लाम को फैलाने और उसके प्रचार के लिए तलवार के जोर पर अभियान चल रहे थे। याचिकाकर्ता ने बताया कि यह वही दौर था जब कुरान में 26 आयतें जोड़ी गईं। आरोप है कि इन आयतों को मानवता के मूल और असल सिद्धांतों का अल्लंघन और मजहब के नाम पर नफरत और कत्लेआम फैलाने वाली बताया गया।

Coronavirus: महाराष्ट्र में कोरोना फिर बना काल, कई जगहों पर लगाया जाएगा लॉकडाउन

याचिकाकर्ता की दलील हैं कि जब कुरान शरीफ की कई किताबे प्रचलन में थीं, तब इस्लामिक ग्रंथ सही अल बुखारी के अनुसार तीसरे खलीफा हजरत उस्मान ने पुरानी कुरान की प्रति की नकल लिखवाई और बाकि बची सभी प्रतियां नष्ट करवा दीं। इस पर याचिकाकर्ता रिजवी ने कहा कि एक ओर जहां कुरान शरीफ में इंसानियत, भाईचारे और प्रेम का पैगाम दिया गया है, वहीं इन 26 आयतों में नफरत और गारत का सबक कैसे सिखाया जा सकता है। यही वजह है कि इन्हीं आयातों के आधार पर मुस्लिम युवाओं का ब्रेनवॉश कर उनको गलत रास्ते पर उतारा जा रहा है। उनको जेहाद के नाम पर बहकाया और उकसाया जा रहा है, जिससे देश की एकता और अखंडता खतरे में पड़ गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

इसलिए नाम के पीछे झुनझुनवाला लगाते थे Rakesh Jhunjhunwala, अकूत दौलत के बावजूद अधूरी रह गई एक ख्वाहिशRakesh Jhunjhunwala Net Worth: परिवार के लिए इतने पैसे छोड़ गए राकेश झुनझुनवाला, एक दिन में कमाए थे 1061 करोड़राजस्थान के जालोर में दलित छात्र की मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद, अलर्ट पर प्रशासनपिता ने नहीं दिए पैसे, फिर भी मात्र 5000 के निवेश से कैसे शेयर बाजार के किंग बने राकेश झुनझुनवालासिर पर टोपी, हाथों में तिरंगा; आजादी का जश्न मनाते दर्जनों मुस्लिम बच्चों का ये वीडियो कहां का है और क्यों वायरल हो रहा है?Rakesh Jhunjhunwala Faith in Sati Dadi Temple: झुंझुनूं की राणी सती दादी मंदिर में थी राकेश झुनझुनवाला की गहरी आस्था'आजादी के अमृत महोत्सव' के तहत भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती 30 गांवों के विकास के लिए शुरू हुई अनूठी पहलRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.