Tamil Nadu: कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक के लिए स्टालिन सरकार का बड़ा फैसला, दो हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन लगाया

Tamil Nadu में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए एम के स्टालिन ने की दो हफ्ते के संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा

नई दिल्ली। कोरोना ( Coronavirus ) की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए तमिलनाडु सरकार ( Tamil Nadu Government ) ने बड़ा कदम उठाया है। मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ( M K Stalin ) ने प्रदेश में दो हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान किया है। ये लॉकडाउन 10 मई से शुरू होगा।

दरअसल तमिलनाडु में लगातार कोरोना के नए मामलों में तेजी देखने को मिल रही है। यही वजह है कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए अब नई नवेली सरकार ने कमान संभाली है और प्रदेश में दो हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन लगाया है।

यह भी पढ़ेंः पुडुचेरी सीएम के शपथ ग्रहण समारोह में कोरोना का साया, 183 लोगों में से 11 निकले कोविड पॉजिटिव

तमिलनाडु के आसपास के राज्यों में भी हालात ज्यादा खराब हैं। कर्नाटक येदियुरप्पा सरकार की ओर से एक दिन पहले ही दो हफ्ते के लॉकडाउन का ऐलान किया जा चुका है।

रोजाना 25 हजार से ज्यादा केस आ रहे सामने
तमिलनाडु में लॉकडाउन की घोषणा तब की गई है जब राज्य में हर रोज करीब 25 हजार संक्रमण के मामले आने लगे हैं। सक्रिय पॉजिटिव मामलों की संख्या भी 1 लाख 31 हजार से ज्यादा हो गई है।

एक दिन पहले ही राज्य में डीएमके की नई सरकार बनी है और एम के स्टालिन ने बतौर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। । शपथ लेने के 24 घंटे के अंदर ही उन्होंने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए ठोक कदम उठाया है।

यह भी पढ़ेँः Tamil Nadu: M K Stalin ने पहली बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, कैबिनेट में 'नेहरू' और 'गांधी' भी हुए शामिल

तमिलनाडु में कोरोना की स्थिति
तमिलनाडु में कोरोना को लेकर खतरा लगातारब बढ़ रहा है। शुक्रवार को प्रदेश में 26,465 नए मामले सामने आए। वहीं 197 लोगों ने कोरोना के चलते अपनी जान गंवाई।

इसके साथ ही यहां अब तक कुल 13 लाख 23 हजार 965 संक्रमण के मामले आ चुके हैं। राज्य में अब तक कुल 15,171 लोगों कोविड 19 महामारी के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं।

राज्य की राजधानी चेन्नई में 6,738 नए संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं। अब तक शहर में कुल 3,77,042 मामले दर्ज किए गए हैं और 5,081 मौतें हुई हैं।
हालांकि थोड़ी राहत की बात यह है कि पिछले 24 घंटों में 22,381 लोग ठीक भी हुए हैं।
आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद स्टालिन ने कोरोना को नियंत्रित करने को अपनी प्राथमिकता में रखा है। उन्होंने चेन्नई नंदबक्कम के ट्रेड सेंटर में ऑक्सजीन बेड्स की स्थिति का जायजा भी लिया।
इसके अलावा गरीबों के लिए राहत पैकेज की भी घोषणा की गई है। सीएम पद की शपथ लेने के बाद एक दिन में एम के स्टालिन ने पांच निर्देश जारी किए हैं। इनमें से एक लॉकडाउन की घोषणा भी शामिल है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned