पुडुचेरी में बोले राहुल, कहा-पिता की हत्या के जिम्मेदार लोगों के प्रति मन में नफरत नहीं

Highlights

  • कहा, 1991 में अपने पिता की हत्या पर काफी दुख हुआ था।
  • राहुल ने कहा कि हिंसा आपसे कुछ भी छीन नहीं सकती।

नई दिल्ली। पुडुचेरी स्थित एक स्कूल में छात्राओं के साथ बातचीत के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बुधवार को अपने पिता राजीव गांधी की हत्या को लेकर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि 1991 में अपने पिता की हत्या पर काफी दुख हुआ था। मगर इस घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के प्रति उनके मन में कोई नफरत या गुस्सा नहीं है।

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को लेकर BMC परेशान, आम जनता के बीच पहुंची मुंबई की मेयर

राहुल यहां पर एक राजकीय महिला महाविद्यालय की छात्राओं के साथ बातचीत कर रहे थे। उसी क्रम में एक विद्यार्थी ने उनसे सवाल किया,‘लिट्टे (लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम) ने आपके पिता की जान ले ली थी, इन लोगों के बारे में आपकी क्या भावनाएं हैं?’’ इसके जवाब में राहुल ने कहा कि हिंसा आपसे कुछ भी छीन नहीं सकती ।

उन्होंने कहा कि मुझे किसी के प्रति गुस्सा या नफरत नहीं है। निश्चित रूप से,मैंने अपने पिता को खो दिया और वह मेरे लिए बहुत कठिन समय था। उन्होंने कहा कि यह किसी के दिल को अलग करने जैसा था।

तालियों की गड़गड़ाहट के साथ उन्होंने कहा, "मुझे काफी दुख हुआ,लेकिन मुझे क्रोध बिल्कुल नहीं है। मुझे कोई नफरत या क्रोध नहीं है। मैंने माफ कर दिया है। उन्होंने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि हिंसा आपसे कुछ नहीं छीन सकती... मेरे पिता मुझमें जीवित हैं... मेरे पिता मेरे जरिए बात कर रहे हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned