scriptTop 10 points of PM Modi video conference with CMs on COVID-19 situation in India | कोरोना पर मुख्यमंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें | Patrika News

कोरोना पर मुख्यमंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पीएम मोदी की 10 बड़ी बातें

कोरोना वायरस की नई लहर ने देश के सामने बड़ी चुनौतियां पेश की हैं और ऐसे में बने हालात से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को मुख्यमंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। इस दौरान पीएम मोदी द्वारा कही गईं 10 बड़ी बातें।

 

नई दिल्ली

Updated: April 08, 2021 10:43:44 pm

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से पैदा हुए हालात काफी चुनौतीपूर्ण हैं, लेकिन देश पिछली बार की तुलना में अब ज्यादा मजबूत है। पहले संसाधनों की कमी और वैक्सीन ना होते हुए भी भारत ने कोरोना पर काबू पाने में सफलता हासिल की थी, लेकिन अब देश और ज्यादा सशक्त हो चुका है और इसके लिए गर्वनेंस पर बल देना होगा। पीएम मोदी ने यह बातें गुरुवार को देश के तमाम राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहीं। आइए जानते हैं पीएम मोदी ने इस वीसी के दौरान कौन सी 10 बड़ी बातें कहीं।
Top 10 points of PM Modi video conference with CMs on COVID-19 situation in India
Top 10 points of PM Modi video conference with CMs on COVID-19 situation in India
बड़ी खबरः कोरोना वैक्सीन की दो डोज के बाद भी लोगों को संक्रमित कर रहा वायरस, डॉक्टर्स भी हैरान-परेशान

1. "आज की समीक्षा में कुछ बातें हमारे सामने स्पष्ट हैं, उन पर हमें विशेष ध्यान देने की जरूरत है। पहला- देश फ़र्स्ट वेव के समय की पीक को क्रॉस कर चुका है, और इस बार ये ग्रोथ रेट पहले से भी ज्यादा तेज है।"
2. "दूसरा- महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, पंजाब, मध्यप्रदेश और गुजरात समेत कई राज्य फ़र्स्ट वेव की पीक को भी क्रॉस कर चुके हैं। कुछ और राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं। हम सबके लिए ये चिंता का विषय है। ये एक सीरियर कंसर्न है।"
3. "तीसरा- इस बार लोग पहले की अपेक्षा बहुत अधिक कैजुअल हो गए हैं। अधिकतर राज्यों में प्रशासन भी नज़र आ रहा है। ऐसे में कोरोना केसेस की इस अचानक बढ़ोतरी ने मुश्किलें पैदा की हैं।"
4. "इन तमाम चुनौतियों के बावजूद, हमारे पास पहले की अपेक्षा बेहतर अनुभव है, संसाधन हैं, और वैक्सीन भी है।जनभागीदारी के साथ-साथ हमारे परिश्रमी डॉक्टर्स और हेल्थ-केयर स्टाफ ने स्थिति को संभालने में बहुत मदद की है और आज भी कर रहे हैं।"
5. "‘Test, Track, Treat’, Covid appropriate behaviour और Covid Management, इन्हीं चीजों पर हमें बल देना है। आज हम जितनी ज्यादा वैक्सीन की करते हैं, इससे ज्यादा हमें टेस्टिंग पर बल देने की जरूरत है। टेस्टिंग और ट्रेकिंग की बहुत बड़ी भूमिका है। टेस्टिंग को हमें हल्के में नहीं लेना होगा।"
बड़ी खबरः एक साल में कोरोना वैक्सीन हो सकती है बेअसर, वैज्ञानिकों ने रिसर्च कर बताई इसकी वजह

6. "11 अप्रैल को ज्योतिबा फूले जी की जन्मजयंती है और 14 अप्रैल को बाबा साहेब की जन्म जयंती है, उस बीच हम सभी ‘टीका उत्सव’ मनाएं। हमारा प्रयास यही होना चाहिए कि इस टीका उत्सव में हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को बिना टीका खराब किए वैक्सीनेट करें। मैं देश के युवाओं से भी आग्रह करूंगा कि आप अपने आसपास जो भी व्यक्ति 45 साल के ऊपर के हैं, उन्हें वैक्सीन लगवाने में हर संभव मदद करें।"
7. "वैक्सीनेशन के साथ साथ हमें ये भी ध्यान रखना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद की लापरवाही न बढ़े। हमें लोगों को ये बार-बार बताना होगा कि वैक्सीन लगने के बाद भी मास्क और सावधानी जरूरी है। वैक्सीन को लेकर राज्य सरकारों की सलाह, सुझाव और सहमति से सही देशव्यापी रणनीति बनी है।"
8. "हमने कोरोना की लड़ाई जीती थी, बिना वैक्सीन के। ये भी भरोसा भी नहीं था कि वैक्सीन आएगी या नहीं। आज हमें भयभीत होने की जरूरत नहीं है। हम जिस तरह से लड़ाई को लड़े थे, उसी तरह से फिर से लड़ाई जीत सकते हैं।"
जरूरी खबरः कोरोना टेस्टिंग के लिए आई पॉकेज साइज मशीन, सस्ती रिपोर्ट और कमाल के रिजल्ट

9. "वैक्सीनेशन के साथ साथ हमें ये भी ध्यान रखना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद की लापरवाही न बढ़े। हमें लोगों को ये बार-बार बताना होगा कि वैक्सीन लगने के बाद भी मास्क और सावधानी जरूरी है।"
10. "कोरोना की रोकथाम के लिए माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर फोकस जरूरी है। दुनिया भर में नाइट कर्फ्यू को स्वीकार किया गया है। अब हमें भी नाइट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू के नाम से याद कर लेना चाहिए। एक बार फिर चुनौतीपूर्ण स्थिति बन रही है, हालांकि अभी लॉकडाउन की जरूरत नहीं है।"
newsletter

अमित कुमार बाजपेयी

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्वप्रियंका के बाद अब सोनिया गांधी भी दोबारा हुईं कोरोना पॉजिटिव, तेजस्वी यादव ने कल ही की थी मुलाकातजम्मू कश्मीर में टेरर लिंक मामले में बिट्टा कराटे की पत्नी समेत चार सरकारी कर्मचारी बर्खास्त2009 में UPSC किया टॉप, 2019 में राजनीति के लिए नौकरी छोड़ी, अब 2022 में फिर कैसे IAS बने शाह फैसल?CSA T20 League: राजस्थान रॉयल्स ने जोस बटलर , मिलर, मैककॉय समेत इन खिलाड़ियों को किया शामिल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.