scriptTwitter ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अकाउंट को किया Unverified, नहीं दिखेगा ‘ब्लू टिक’ | Twitter withdraws Blue tick from Vice President Venkaiah naidu personal account | Patrika News
विविध भारत

Twitter ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अकाउंट को किया Unverified, नहीं दिखेगा ‘ब्लू टिक’

केंद्र से घमासान के बीच Twitter ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अकाउंट से हटाया ब्लू टिक, सोशल मीडिया ने दिया ये जवाब

Jun 05, 2021 / 09:56 am

धीरज शर्मा

Twitter withdraws Blue tick from Vice President Venkaiah naidu personal account

Twitter withdraws Blue tick from Vice President Venkaiah naidu personal account

नई दिल्ली। केंद्र सरकार और सोशल मीडिया ( Social Media )प्लेटफॉर्म्स के बीच जारी लड़ाई के बीच ट्विटर ( Twitter ) ने बड़ा कदम उठाया है। ट्विटर ने भारत के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ( Venkaiah Naidu ) के निजी ट्विटर हैंडल से वैरिफाइड ब्लू टिक ( Blue Tick ) वापस ले लिया है।
ये जानकारी उपराष्ट्रपति के कार्यालय की ओर से साझा की गई है। ये खबर आते ही ट्विटर पर ‘Vice President of India’ ट्रेंड होने लगा है। सोशल मीडिया पर काफी लोग ट्विटर के इस कदम का विरोध कर रहे हैं।
यह भी पढ़ेँः Facebook ने दो साल के लिए सस्पेंड किया डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट, जानिए क्या है वजह

https://twitter.com/ANI?ref_src=twsrc%5Etfw
सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर ने भारत के उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू के निजी ट्विटर अकाउंट को अनवेरिफाइड कर दिया है। ऐसे में अब उनके ट्विटर अकाउंट से ‘ब्लू टिक’ हट गया है।
https://twitter.com/Twitter?ref_src=twsrc%5Etfw
बीजेपी नेता सुरेश नाखुआ ने पूछा है, ‘ट्विटर ने उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ब्लू टिक क्यों हटाया? यह भारत के संविधान पर हमला है।’ हालांकि कुछ लोगों का ये भी दावा है कि उनका अकाउंट एक्टिव नहीं था, जिस वजह से अनवेरिफाइड कर दिया गया है।
https://twitter.com/MVenkaiahNaidu?ref_src=twsrc%5Etfw
https://twitter.com/i_am_sahilk/status/1401023975459758081?ref_src=twsrc%5Etfw
वहीं सोशल मीडिया यूजर्स में भी नाराजगी नजर आ रही है। कई लोगों ने ट्विटर के इस कदम का विरोध किया है।

हालांकि कई लोगों का मानना है कि अकाउंट एक्टिव नहीं था इस कारण हो सकता है उसे अनवेरिफाइड कर दिया गया होगा।
केंद्र-ट्विटर के बीच बढ़ा विवाद
केंद्र सरकार की नई गाइडलाइन को लेकर ट्विटर और सरकार के बीच हालिया दिनों में विवाद बढ़ा है। नई गाइडलाइन को अभी तक ट्विटर ने अपनी रजामंदी नहीं दी है।
वहीं, कुछ दिन पहले ही कंटेंट फिल्टरिंग को लेकर दिल्ली पुलिस ने ट्विटर इंडिया के दिल्ली और गुरुग्राम के दफ्तर पर छापेमारी की थी। ऐसे में ट्विटर का ये कदम एक बार फिर नए विवाद को जन्म दे सकता है।
क्या कहती है ट्विटर पॉलिसी
ट्विटर अकाउंट के Active होने से ये मतलब है कि आप अकाउंट को पिछले छह महीनों से लगातार यूज कर रहे हैं तो मतलब पूरी तरह से एक्टिव हों।

एक यूजर ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि ‘भारत के उपराष्ट्रपति ने 23 जुलाई 2020 के बाद कुछ भी ट्वीट नहीं किया है, जिसका अर्थ है कि उनका खाता पिछले 10 महीनों से निष्क्रिय है।
ट्विटर पॉलिसी के मुताबिक ‘ब्लू टिक’ स्वचालित रूप से निष्क्रिय खातों से हटा दिए जाते हैं। इसलिए उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया गया है।

यह भी पढ़ेँः Google ने देश की इस भाषा को बताया ‘सबसे खराब’, जब मचा हंगामा तो उठाना पड़ा ये कदम
2017 से ब्लू टिक पर थी रोक
वर्ष 2017 में ट्विटर ने ब्लू टिक प्रोसेस पर आम लोगों के लिए रोक लगा दी थी। दरअसल जब ट्विटर के वेरिफिकेशन प्रोगाम को भ्रमित बताते हुए इसकी आलोचना होने लगी तो ट्विटर ने ये कदम उठाया था। लेकिन आने वाले हफ्तों में अब यह फिर से शुरू होने जा रहा है।

Hindi News/ Miscellenous India / Twitter ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के अकाउंट को किया Unverified, नहीं दिखेगा ‘ब्लू टिक’

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो