WHO के बार-बार गलत नक्शा दिखाने पर दी चेतावनी, भारत ने पत्र लिखकर गलती सुधारने को कहा

Highlights

  • बीते हफ्ते यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि इंद्र मणि पांडेय ने डब्ल्यूएचओ चीफ को इस बारे में अवगत कराया है।
  • लिखा कि वे भारत की सीमाओं को गलत तरह से प्रदर्शित करना बंद करें।

नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन डब्ल्यूएचओ के मानचित्रों में भारत की सीमाओं को बार.बार गलत ढंग से दिखाया जा रहा है। इसे लेकर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया है। उसने तीसरी बार वैश्विक संस्था को चेतावनी दी है। भारत ने डब्ल्यूएचओ के चीफ टेड्रोस एडहानॉम को पत्र लिखकर अपनी गलती सुधारने को कहा है।

दिल्ली में दोबारा बिक सकेगा चिकन, गाजीपुर मंडी से लिए 100 नमूने निगेटिव पाए गए

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस बार भारत ने काफी सख्त लहजे में इसे सुधारने के लिए कहा है। भारत की तरफ से इस मुद्दे पर बीते माह डब्ल्यूएचओ को तीसरी बार यह पत्र लिखा गया है। इससे पहले दिसंबर में दो बार डब्ल्यूएचओ चीफ को पत्र लिखा गया है। बीते हफ्ते यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि इंद्र मणि पांडेय ने डब्ल्यूएचओ चीफ को इस बारे में अवगत कराया है।

भारत का कहना है कि डब्ल्यूएचओ के पोर्टल्स पर मौजूद वीडियो और नक्शे में उसकी सीमाओं को ठीक से नहीं दर्शाया जा रहा। आठ जनवरी को डब्ल्यूएचओ चीफ को लिखी चिट्ठी में कहा कि वे डब्ल्यूएचओ के अलग.अलग वेब पोर्टल्स पर नक्शों में भारत की सीमाओं गलत तरह से दर्शाने पर आपत्ति जाहिर करते हैं। इस मामले में उन्होंने डब्ल्यूएचओ को भेजे गए, पिछले संदेशों को याद दिलाने की कोशिश की। इनमें हमने इन्हीं गलतियों की बात की थी। उन्होंने चीफ से इस मामले में तुरंत दखल देने की मांग की है। उन्होंने लिखा कि वे भारत की सीमाओं को गलत तरह से प्रदर्शित करना बंद करें। कृपया सही मानचित्रों का प्रयोग किया जाए।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned