script नई रिपोर्ट में WhatsApp का दावा, भारत में 1 महीने में 20 लाख अकाउंट ब्लॉक किए | whatsapp blocked 20 lakh indian accounts in a month | Patrika News

नई रिपोर्ट में WhatsApp का दावा, भारत में 1 महीने में 20 लाख अकाउंट ब्लॉक किए

locationनई दिल्लीPublished: Jul 15, 2021 11:49:59 pm

Submitted by:

Mohit Saxena

भारत में 15 मई से 15 जून के बीच 20 लाख से अधिक व्हाट्सएप खातों पर पाबंदी लगाई है। बीते एक माह में व्हॉट्सएप ने पूरे विश्व के लगभग 80 लाख खातों पर कार्रवाई की है।

whatsapp

नई दिल्ली। फेसबुक (Facebook) के स्वामित्व वाले इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हॉट्सएप (Whatsapp) ने गुरुवार को दावा किया उसने ऑनलाइन दुरुपयोग को रोकने और यूजर को सुरक्षित रखने के लिए भारत में 15 मई से 15 जून के बीच 20 लाख से अधिक व्हाट्सएप खातों पर पाबंदी लगाई है। उसने अपनी मासिक अनुपालन रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है। इन खातों को ब्लॉक करा गया है। वहीं बीते एक माह में व्हॉट्सएप ने पूरे विश्व के लगभग 80 लाख खातों पर कार्रवाई की है।

ये भी पढ़ें: भारतीय मूल की दो युवा महिलाएं राबिया घूर और सुमैया वैली को मिला अंतरराष्ट्रीय सम्मान

भारत से 345 शिकायतें मिली हैं

कंपनी के अनुसार इस माह कंपनी को भारत से 345 शिकायतें मिली हैं। गौरतलब है कि व्हॉट्सएप के भारत में 530 मिलियन यूजर्स हैं। इन शिकायतों में एकाउंट सपोर्ट को लेकर 70 शिकायतें थीं। मगर इनमें से किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है। वहीं 204 शिकायतें थीं कि खाते को ब्लॉक करा गया।

इनमें से 63 के खिलाफ कार्रवाई हुई थी। वहीं 20 शिकायतें अन्य मामलों को लेकर थीं। 43 शिकायतें प्रोडक्ट सपोर्ट को लेकर भी थीं। इनमें कंपनी द्वारा दिए जाने वाले भुगतान जैसे उत्पाद सेवाओं का जिक्र शामिल था। इसमें आठ सुरक्षा से जुड़े मामले भी शामिल थे।

ये भी पढ़ें: जस्टडायल खरीद सकता है रिलायंस, मुकेश अंबानी 6660 करोड़ रुपये में कर सकते हैं सौदा

गलत संदेश को फैलने से रोकना है

इन खातों पर कार्रवाई को लेकर व्हॉट्सएप का कहना है कि वे लगातार तकनीक में सुधार, लोगों की सुरक्षा और प्रक्रिया पर खर्च कर रहे हैं। इसका मुख्य उद्देश्य किसी हानिकारक या गलत संदेश को फैलने से रोकना है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का कहना है कि वह ऐसे खातों पर कार्रवाई कर रहे हैं जो झूठे संदेश भेजते हैं।

व्हॉट्सएप ने आगे कहा कि हमने किसी भी गलत और नुकसानदेह व्यवहार को रोकने को लेकर टूल और संसाधनों की तैनाती की है। वे चाहते हैं कि किसी भी हानिकारक संदेश के फैलने से पहले उसे रोका जाए।

ट्रेंडिंग वीडियो