किसान आंदोलन में शामिल रही युवती से हुआ था रेप, कोरोना से मौत के बाद पुलिस ने 6 लोगों को बनाया आरोपी

हरियाणा पुलिस का कहना है कि किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए पश्चिम बंगाल से एक युवती भी दिल्ली आई थी। इस युवती से आंदोलन में शामिल चार किसान नेताओं ने रेप किया था। आरोप है कि रेप में इन किसान नेताओं की आंदोलन में शामिल दो लड़कियों ने मदद भी की थी। पीडि़त युवती की हाल ही में कोरोना संक्रमण से मौत हो गई।

 

नई दिल्ली।

तीन नए कृषि कानून के विरोध में बीते करीब सात महीने से दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। हरियाणा पुलिस के अनुसार, आंदोलन में शामिल होने के लिए पश्चिम बंगाल से एक युवती भी आई थी, जिसके बाद साथ आंदोलन में शामिल चार किसान नेताओं ने रेप किया था। इस युवती की हाल ही में कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में केस तो दर्ज कर लिया है, मगर आरोपी अब भी गिरफ्त से बाहर हैं।

हरियाणा पुलिस ने मृत युवती के पिता की शिकायत पर चार किसान नेताओं समेत आंदोलन से जुड़ी दो महिलाओं को भी आरोपी बनाते हुए विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज की है। युवती के पिता का आरोप है कि उनकी बेटी से चार लोगों ने तब रेप किया, जब वह किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए दिल्ली के टिकरी बॉर्डर गई थी। पिता की शिकायत पर हरियाणा पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें:- पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप मारुति-800 कार से आ रहे शिमला, हिमाचल पुलिस ने दर्ज किया केस

पुलिस ने सभी आरोपियों पर अपहरण, गैंगरेप, ब्लैकमेलिंग और बंधक बनाने के अलावा धमकी देने के आरोपों में केस दर्ज किया है। बहरहाल, इस शर्मनाक करतूत पर किसान आंदोलन में शामिल दूसरे तमाम नेता कुछ भी कहने से बचते नजर आ रहे हैं।

बताया जा रहा है कि मृत युवती के साथ कुछ गलत होने की चर्चा पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही थी। इस बीच, बीते 30 अप्रैल को युवती की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। इससे करीब चार दिन पहले उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। युवती की मौत के बाद पिता ने पुलिस में शिकायत दी है कि टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन में सक्रिय चार नेताओं ने उनकी लडक़ी से रेप किया था। इस मामले में दो महिला वालंटियर को भी आरोपी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें:- अल्मोड़ा में चौंकाने वाला मामला, फेरे से पहले दुल्हन की हुई कोरोना जांच, रिपोर्ट देख सब रह गए हैरान

पुलिस के अनुसार, युवती बीते 11 अप्रैल को आरोपियों के साथ बंगाल से दिल्ली आई थी। यहां टिकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में वह आरोपियों के साथ शामिल हुई। युवती के साथ आरोपी किसान आंदोलन में काफी सक्रिय रहते थे। पुलिस के अनुसार, आरोपियों में दो लड़कियों समेत चार युवक हैं। चूंकि मामला बीते कई दिनों से चर्चा का विषय बना हुआ था, जिसके बाद किसान आंदोलन से जुड़े कई नेता इस पर सीधे तौर पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं, मगर कहा जा रहा है कि उन्होंने पूरी घटना की पुलिस से जांच की मांग की है। इस संबंध में गत शनिवार को टिकरी बॉर्डर पर संयुक्त मोर्चा की बैठक भी हुई थी।

COVID-19
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned