फ्रांस और तुर्की में बढ़ा तनाव! एर्दोगन ने कहा- मैक्रों को मानसिक इलाज की है जरूरत

HIGHLIGHTS

  • Erdogan says Macron needs mental health treatment: तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने अपने फ्रांसीसी समकक्ष इमैनुएल मैक्रों को मानसिक रूप से बीमार बताया है।
  • एर्दोगन ने कहा कि मैक्रों को इस्लाम या मुस्लिम से क्या समस्या है ये समझ नहीं आ रहा है, उन्हें मानसिक इलाज की जरूरत है।

पेरिस। फ्रांस में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून ( Prophet Mohammad Cartoon Paris ) को लेकर कई बार विवाद हो चुका है और बीते दिनों इसी संबंध में एक शख्स ने इतिहास के एक शिक्षक की गला रेतकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ( French President Emmanuel Macron ) ने इसे इस्लामिक आतंकी हमला करार दिया था।

अब तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ( President Recep Tayyip Erdogan ) ने एक बड़ा बयान दिया है। एर्दोगन इमैनुएल मैक्रों को मानसिक रूप से बीमार बताया है। उन्होंने कहा कि मैक्रों को इस्लाम या मुस्लिम से क्या समस्या है ये समझ नहीं आ रहा है, उन्हें मानसिक इलाज की जरूरत है।

फ्रांस: पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने वाले शिक्षक की गला काटकर हत्या, राष्ट्रपति मैक्रों ने बताया 'इस्लामिक आतंकवादी हमला'

फ्रांसीसी अधिकारियों की ओर से कट्टरपंथी मुस्लिमों पर नकेल कसने और मस्जिदों को तोड़ने के आदेश दिए जाने लेकर एर्दोगन ने मैक्रों पर लाखों मुस्लिमों के साथ बदसलूकी करने का गंभीर आरोप लगाए हैं। तुर्की मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार, एर्दोगन ने शनिवार को सत्तारूढ़ न्याय और विकास पार्टी की बैठक में कहा कि मैक्रों को मानसिक स्वास्थ्य उपचार की आवश्यकता है। 'इस्लाम और मुसलमानों के साथ मैक्रों की आखिर समस्या क्या है?

अपनी विफलता छिपाने के लिए मैक्रों इस्लाम को कर रहे हैं टारगेट: एर्दोगन

एर्दोगन ने मैक्रों के बयान की आलोचना की और कहा कि उन्होंने फ्रांस में इस्लामी चरमपंथ का मुकाबला करने के लिए कई काम किए हैं। अक्टूबर की शुरुआत में मैक्रों ने कहा था कि कि कट्टरपंथ के उदय के कारण दुनिया भर में इस्लाम 'संकट में' है। इसलिए देश के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों को मजबूत करने और 'इस्लामवादी अलगाववाद' पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से कई कदम उठाए गए हैं।

Tayyip Erdogan के बयान पर सऊदी अरब बौखलाया, तुर्की की हर चीज का बहिष्कार करने को कहा

मैक्रों के इस बयान को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति ने उकसाने वाला बयान बताया और कहा कि घरेलू राजनीति में अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाने के लिए वे इस्लाम को टारगेट कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैक्रों कभी भी धार्मिक आजादी को नहीं समझते हैं।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned