रफाल बनाने वाली कंपनी के मालिक ओलिवियर दसॉ की विमान हादसे में मौत, राष्ट्रपति मैक्रों ने जताया शोक

  • रफाल बनाने वाली कंपनी के मालिक ओलिवियर दसॉ की मौत
  • छुट्टियां मनाने गए ओलिवियर का निजी हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश
  • दसॉ के निधन पर राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने भी जताया शोक

नई दिल्ली। रफाल ( Rafale )जैसे लड़ाकू विमान बनाने वाली कंपनी के मालिक और फ्रांस के अरबपति ओलिवियर दसॉ ( Olivier dassault ) की एक विमान हादसे में मौत हो गई है। ओलिवियर की मौत पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने शोक व्यक्त किया है।

आपको बता दें कि ओलिवियर दसॉ फ्रांस की संसद के सदस्य भी थे। फ्रांसीसी उद्योगपति सर्ज दसॉ के सबसे बड़े बेटे और दसॉ के संस्थापक मार्केल दसॉ के पोते ओलिवियर दसॉ की उम्र 69 साल थी।

बताया जा रहा है कि वे छुट्टियां मनाने जा रहे थे तभी उनका प्राइवेट हेलिकॉप्टर नॉर्मडी क्रैश हो गया। इस हादसे में उनकी मौत हो गई। ओलिवियर दसॉ के अलावा इस दुर्घटना में पायलटर भी मारा गया है।

मंगल पर नासा के पर्सवियरेंस रोवर ने कर दिया कमाल, महज 33 मिनट में तय कर डाली इतनी दूरी, जानिए क्या होगा फायदा

राष्ट्रपति ने जताया शोक
ओलिवियर दसॉ की मौत की खबर से राष्ट्रपति मौक्रों भी आहत नजर आए। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि- ओलिवियर डसॉल्ट फ्रांस से प्यार करते थे। उन्होंने उद्योग, कानून निर्माता, स्थानीय निर्वाचित अधिकारी, वायु सेना में कमांडर के रूप में देश की सेवा की। उनका आकस्मिक निधन एक बहुत बड़ी क्षति है। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति गहरी संवेदना।

आपको बता दें कि ओलिवियर दसॉ ने राजनीतिक कारणों और हितों के टकराव से बचने के लिए दसॉ बोर्ड से अपना नाम वापस ले लिया था।

पिछले साल फोर्ब्स की सूची में मिला 361वां स्थान
साल 2020 फोर्ब्स की सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में दसॉ को अपने दो भाइयों और बहन के साथ 361वां स्थान मिला था।

रिपब्लिकन पार्टी से सांसद
दसॉ ग्रुप के पास एविएशन कंपनी के अलावा ली फिगारो अखबार भी है। वह फ्रांस की नेशनल एसेंबली के लिए साल 2002 में चुने गए थे और फ्रांस के ओइस एरिया का प्रतिनिधित्व करते थे।

बंगाल में चुनाव के बीच तेज हुई नेताओं की जुबानी जंग, अब शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को लेकर कह डाली इतनी बड़ी बात

इतनी है कुल संपत्ति
रिपब्लिकन पार्टी के सांसद ओलिवियर दसॉ की संपत्त‍ि करीब 7.3 अरब अमरीकी डॉलर है। आपको बता दें कि ओलिवियर दसॉ के दादा मार्सेल एक विमानिकी इंजीनियर और प्रतिष्ठित आविष्कारक थे।

उन्होंने प्रथम विश्व युद्ध के दौरान फ्रांसीसी विमानों में इस्तेमाल किया जाने वाला एक प्रोपेलर विकसित किया था जो मौजूदा समय में भी दुनियाभर में प्रसिद्ध है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned