मंगल पर पहली बार चला NASA का रोवर, 33 मिनट में तय की 21 फीट की दूरी

  • NASA के पर्सवियरेंस रोवर ने मंगल पर तय की 21 फीट की दूरी
  • पहली बार मंगल की सतह पर रोवर की कामयाब चाल
  • नासा ने कहा- ये तो अभी शुरुआत है, अभी लंबी दूरी होगी तय

नई दिल्ली। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी (NASA) की ओर से मंगल पर भेजे गए पर्सवियरेंस रोवर (Perseverance rover) को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल इस रोवर ने पहली बार अपनी लैंडिंग की जगह से हलचल की है। अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की मानें तो ये हलचल मंगल को लेकर की जा रही खोज में मील का पत्थर साबित हो सकती है।

मंगल ग्रह पर भेजा गया नासा का रोवर गुरुवार यानी 4 मार्च को पहली बार अपनी लैंडिंग वाली जगह से सफलतापूर्वक आगे बढ़ा। इस दौरान रोवर ने करीब 22 फीट की दूरी तय की है।

क्रिकेट पिच पर हुई सचिन-सहवाग की शानदार वापसी, ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के साथ दोनों ने खेली 113 रन की शतकीय पारी

इतने वक्त में तय की 22 फीट की दूरी
NASA ने कहा है कि रोवर ने अपने अभियान का पहला चरण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। उनके पर्सवियरेंस रोवर जो 6 पहियों वाला है उसने अपनी लैंडिंग से 33 मिनट का वक्त लेकर करीब 6.5 मीटर की दूरी को तय किया है। ये दूरी करीब 21.3 फीट थी।

ऐसे आगे बढ़ा रोवर
नासा के मुताबिक, रोवर चार मीटर आगे बढ़ा, फिर वहां से 150 डिग्री पर बाएं मुड़ा और फिर 2.5 मीटर पीछे आया।

मंगल की सतह पर दर्ज हुए निशान
जैसे-जैसे रोवर अपनी जगह से आगे बढ़ता गया वैसे-वैसे उसके पहियों को निशान भी मंगल की सतह पर दर्ज होते गए। इन निशानों को नासा के वीडियो में आसानी से देखा जा सकता है।

कैलिफोर्निया के पासाडेना में नासा के जेट प्रोपल्शन लेबोरेटरी में पर्सवियरेंस की गतिशीलता का परीक्षण करने वाली इंजीनियर अनीस जरीफियन ने कहा- पर्सविरयरेन्स के टायर को किक और उसे बाहर घुमाने का यह हमारा पहला मौका था।

उन्होंने कहा कि परीक्षण अभियान 'अविश्वसनीय रूप' से बहुत अच्छी तरह से चला। उन्होंने ये भी कहा कि मिशन और उसे पूरा करने वाली टीम के लिए यह बहुत बड़ा 'मील का पत्थर' साबित हुआ है।

कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला, बेटे की आय पर पत्नी और बच्चों के साथ माता-पिता का भी उतना ही हिस्सा

ये तो अभी शुरुआत है
जरीफियन के मुताबिक, जल्द ही हम लंबी ड्राइव पर निकलने वाले हैं, यह तो अभी शुरुआत है। नासा की ओर से जारी बयान में कहा गया कि शनिवार को रोवर लंबी ड्राइव पर निकलेगा।

रोजाना तय करेगा 200 मीटर की दूरी
नासा के मुताबिक, रोवर प्रति दिन 200 मीटर की दूरी तय कर सकता है, जो पृथ्वी पर एक दिन की तुलना में थोड़ा लंबा है।

आपको बता दें कि 18-19 फरवरी की मध्यरात्रि में रोवर मंगल ग्रह पर जीवन की तलाश करने के लिए सफलतापूर्वक उतरा था। नासा के मुताबिक मंगल ग्रह पर यह अबतक की सबसे सटीक लैंडिंग है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned