अमरीका ने किया ड्रोन को मार गिराने का दावा, ईरान ने कहा- गलतफहमी का शिकार है यूएस

अमरीका ने किया ड्रोन को मार गिराने का दावा, ईरान ने कहा- गलतफहमी का शिकार है यूएस

  • डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का दावा, अमरीका ने 'रक्षात्मक कार्रवाई' में मार गिराया ईरानी ड्रोन (Iranian Drone)
  • ईरानी विदेश मंत्री जवाद जारिफ ने कहा, घटना की 'जानकारी नहीं'

तेहरान। परमाणु समझौते को लेकर ईरान और अमरीका के रिश्ते लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। दुनियाभर के कई देशों की तमाम कोशिशों के बावजूद दोनों देशों के बीच सुलह की कोई गुंजाइश नजर नहीं आ रही है।

इसी बीच एक और खबर सामने आई है, जिससे US और ईरान के बीच तनाव और बढ़ सकता है। दरअसल, गुरुवार को अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) ने गुरुवार को दावा किया है कि अमरीका ने एक ईरानी ड्रोन ( Iranian drone) को मार गिराया है।

हालांकि, ईरान के विदेश मंत्री ने इन दावों के विपरीत अपने बयान में कहा कि उन्हें ऐसी किसी घटना की जानकारी नहीं है। यही नहीं, ईरान की उप विदेश मंत्री ने तो यहां तक कह डाला कि 'हो सकता है अमरीका ने अपने ही ड्रोन को मारकर गिराया हो।' बीते दिनों तेल टैंकरों को लेकर खाड़ी में तनाव और उसके बाद ईरान की ओर से अमरीकी ड्रोन गिराए जाने के बाद आई इस खबर से दोनों देशों के रिश्तों में तल्खी साफ नजर आ रही है।

ईरान के रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने विदेशी जहाज को किया जब्त

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने किया यह दावा

गुरुवार को ट्रंप ने दावा किया कि स्ट्रेट ऑफ हॉर्मुज ( Strait of Hormuz ) में अमरीकी युद्धपोत ( us warship ) ने एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया है। वाइट हाउस में मीडिया से बात करते हुए ट्रंप ने बताया कि अमरीकी नौसेना के एक जहाज 'बॉक्सर' ने एक ईरानी ड्रोन को मार गिराया है। ट्रंप के मुताबिक इस ड्रोन ने 1000 गज की दूरी के भीतर उड़ान भरकर अमरीकी युद्धपोत को धमकी देने की कोशिश कर रहा था। इससे अमरीकी जहाज और उसके चालक दल की सुरक्षा को खतरा था। ट्रंप ने ईरानी ड्रोन को गिराया जाना 'रक्षात्मक कार्रवाई' का हिस्सा बताया है।

US-Iran Tension: ईरान को दुनिया के नक्शे से मिटाना चाहता है अमरीका ?

ईरान ने किया घटना से इनकार

हालांकि, ट्रंप के दावों के बाद ईरान के विदेश मंत्री मो. जवाद जारिफ ने भी इस बारे में बयान जारी किया। ऐसी किसी घटना से इनकार करते हुए ईरान के शीर्ष राजनयिक ने कहा है कि उन्हें ईरान के ड्रोन के नुकसान के बारे में उन्हें 'कोई जानकारी नहीं' है।

वहीं ईरान के उप विदेश मंत्री अब्बास अर्घाची ने कहा कि,' स्ट्रेट ऑफ हॉर्मुज या कहीं भी ईरान का कोई भी ड्रोन लापता नहीं हुआ है। हमें चिंता है कि कहीं अमरीका के युद्धपोत ने अपने ही किसी ड्रोन को तो मार कर नहीं गिराया।'

आपको बता दें कि बीते साल मई में ट्रंप ने 2015 के परमाणु समझौते से खुद को अलग करते हुए, ईरान पर प्रतिबंध लगाने का सिलसिला शुरू किया है। इसके बाद से ही जारी सिलसिलेवार घटनाओं से यह तनाव बढ़ता जा रहा है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर...

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned