scriptMaharashtra Jalgaon Kanashi Village vegetarian for 800 hundred years know the belief behind it | Vegetarian Village: महाराष्ट्र का यह गांव 800 सौ साल से है शाकाहारी, जानें इसके पीछे की मान्यता | Patrika News

Vegetarian Village: महाराष्ट्र का यह गांव 800 सौ साल से है शाकाहारी, जानें इसके पीछे की मान्यता

Maharashtra Vegetarian Kanashi Village: जलगांव जिले के भडगांव तालुका से लगभग आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस गांव के लोग महानुभाव पंथ के अनुयायी है. अगर देखा जाएं तो देशभर में कनाशी नाम के कई गांव होंगे, लेकिन इस कनाशी ने अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। कहा जाता है कि यहां आने वाला शख्स खाली हाथ नहीं जाता है।

मुंबई

Published: August 01, 2022 11:24:23 am

Vegetarian Village In Maharashtra: महाराष्ट्र का एक गांव जो दशकों से शाकाहारी होने की परंपरा निभा रहा है। बदलते समय में कई लोग मांस और नशे के आदी हो चुके हैं, लेकिन जलगांव (Jalgaon) जिले के भडगांव के कानाशी (Kanashi Village) ने इन सब से दूर रहकर एक पूर्ण शाकाहारी गांव के रूप में अपनी पहचान बनाई है। पिछले आठ सौ वर्षों से इस गांव ने शाकाहारी होने की अटूट परंपरा को बरकरार रखा है।
Kanashi village in Jalgaon has been vegetarian for decades
जलगांव का एक गांव दशकों से है शाकाहारी
जलगांव जिले के कानाशी गांव की आबादी तीन हजार है। पूर्वजों की धार्मिकता और शिक्षा के कारण इस गांव में सैकड़ों वर्षों से मांस खाने पर पाबंदी है। भले ही अलग-अलग विचारों और अलग-अलग रुचियों वाले लोग एक गाँव में रहते हों, लेकिन वे शाकाहार पर हमेशा सहमत रहे हैं।
यह भी पढ़ें

Mumbai: टीवी देखते हुए महिला बना रही थी मैगी, जहरीला टमाटर भी साथ में पकाया, 6 दिन बाद हुई मौत

जलगांव जिले के भडगांव तालुका से लगभग आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस गांव के लोग महानुभाव पंथ (Mahanubhav Panth) के अनुयायी है. अगर देखा जाएं तो देशभर में कनाशी नाम के कई गांव होंगे, लेकिन इस कनाशी ने अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। कहा जाता है कि यहां आने वाला शख्स खाली हाथ नहीं जाता है।
यहां आने वाला हर शख्स ग्रामीणों के आतिथ्य का मुरीद बन जाता है. वें यहां की सभ्यता से प्रभावित होकर गर्व और खुशी से शाकाहारी और गैर-नशेड़ी रहने की शपथ लेते हैं। यहां एक किंवदंती आज भी बताई जाती है कि 12वीं शताब्दी के दार्शनिक, समाज सुधारक और महानुभाव पंथ के संस्थापक चक्रधर स्वामी (Chakradhar Swami) ने कनाशी का दौरा किया था।
महानुभाव पंथ हिंदुओं का एक सम्प्रदाय है जिसकी नींव सन 1267 में चक्रधर स्वामी ने रखी थी। वे एक बड़े समाज सुधारक थे। महानुभाव पंथ के अनुयायी कड़क शाकाहारी होते हैं। साथ ही शराब आदि से सख्त परहेज करते हैं। इसी तरह आठ सौ वर्षों से कानाशी गांव की सभी जातियों और धर्मों के लोगों ने महानुभाव पंथ को गले लगाया है। इसलिए यह देखा गया है कि इस क्षेत्र के लोग बड़े आनंद के साथ शाकाहारी जीवन शैली जी रहे है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानि
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.