मुन्ना बजरंगी की हत्या के आरोपी सुनील राठी का शार्प शूटर एनकाउंटर में हुआ पस्त

मुन्ना बजरंगी की हत्या के आरोपी सुनील राठी का शार्प शूटर एनकाउंटर में हुआ पस्त

Iftekhar Ahmed | Publish: Aug, 12 2018 06:53:22 PM (IST) Shamli, Uttar Pradesh, India

शामली पुलिस और बदमाशों में मुठभेड़ में बना शिकार

शामली. यूपी में जारी ऑपरेशन क्लीन के तहत शामली पुलिस एक बार फिर बदमाशों पर कहर बनकर टूट पड़ी। ऐसे ही एक एनकाउंटर में शामली पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया। इनमें से एक बदमाश अंकित उर्फ काला मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से घायल हुआ था। जबकि उसके दो अन्य बदमाश अमित और कपिल को भी गिरफ्तार किया है। घायल बदमाश अंकित उर्फ काला हरियाणा राज्य के जनपद सोनीपत के गाँव माहीपुर का निवासी है। पकड़े गए अन्य दोनों बदमाश जनपद बागपत के गांव लूम्ब के निवासी है, जो पिछले कई सालों से लूट, हत्या और डकैती की वारदात को अंजाम देते आ रहे थे। इनके पास से पुलिस ने 315 बोर के 3 तमंचे और 6 जिंदा कारतूस सहित लूट की स्विफ्ट डिजायर कार भी बरामद कर ली है। आरोप है कि पकड़ा गया बदमाश अंकित उर्फ काला धर्मेन्द्र किरठल का शार्प शूटर रह चुका है। आरोप है कि इससे पहले ग़ाज़ियाबाद थाना मुरादनगर क्षेत्र के गांव ऊझेड़ा में धर्मेन्द्र किरठल के कहने पर पिता - पुत्र की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। लेकिन कुछ समय बाद अंकित और धर्मेन्द्र किरठल के बीच कुछ विवाद पनप गया था। इसी को लेकर कुख्यात बदमाश धर्मेन्द्र किरठल ने अंकित पर जानलेवा हमला भी किया था। इसमे अंकित को गोली मार दी थी। लेकिन अंकित बच गया था। अंकित ने किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में अपना इलाज भी कराया था। तभी से कुख्यात बदमाश धर्मेन्द्र किरठल और बदमाश अंकित उर्फ काला के बीच दुश्मनी बढ़ गई। इसी बीच अंकित के मुताबिक वह सुनील राठी गैंग के शार्प शूटर अमित सरनावली के साथ मिल गया।

यह भी पढ़ें- बात-बात में एनकाउंटर करने वाली यूपी पुलिस पर कसा शिकंजा

आपको बता दें कि सुनील राठी वही बदमाश है, जिस पर हाल ही में बागपत जिला कारागार के अंदर पूर्वांचल के डॉन मुन्ना उर्फ बजरंगी की हत्या का आरोप लगा था। बदमाश के मुताबिक सुनील राठी ही अपने विरोधी बदमाशो का सफाया करा रहा है। इसी लिए अंकित को सुपारी देकर बदमाश धर्मेन्द्र किरठल को मारने का पलान बना रहा हैं। बदमाश अंकित का कहना है कि वह धर्मेंद किरठल की हत्या करने और एक बैंक लूटने की फिराक में थे। उसकी योजना बैंक से लुटे गए पैसों से AK 47 खरीदने की थी, ताकि धर्मेन्द्र किरठल को मौत के घाट उतार सके। लेकिन गैंगवार शुरू होने से पहले ही शामली पुलिस ने बदमाशों की साजिश को नाकाम कर दिया। अपराध की योजना बना रहे कांधला थाना क्षेत्र में मुठभेड़ के बाद तीनों शातिर बदमाशों को मौके पर ही पुलिस ने दबोच लिया। पकड़े गए बदमाश का ये भी कहना है कि वह अपने शौक पूरे करने और अत्याधुनिक हत्यारों की खरीद के लिए हत्या की वारदातों को अंजाम देता था।

यह भी पढ़ें- गोरक्षा के बाद अब लव जिहाद के नाम पर कोर्ट परिसर में मुस्लिम युवक को भीड़ ने बनाया शिकार

इन बदमाशों के लूट करने का तरीका ये था कि बदमाश गाड़ी बुककर कही दूर ले जाते थे और फिर ड्राइवर की हत्या कर गाड़ी लूटकर फ़रार हो जाते थे। इसी तरह के अपराधों से अंकित का हौसला बढ़ता चला गया और वह एक दुर्दांत अपराधी बन गया। कुख्यात बदमाश धर्मेन्द्र किरठल से अपनी रंजिश का बदला लेने के लिए ही पकड़े गए दोनों बदमाश अमित और कपिल को भी अपने साथ जोड़ लिया और उनके साथ मिलकर 15 दिन पूर्व लोनी से ओला कम्पनी की कार बुककर कांधला थाना क्षेत्र के खेड़ा कुरतान क्षेत्र में चालक संदीप की गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसी के दो दिन बाद तीनों मिलकर पानीपत से स्विफ्ट डिजायर कार बुक कर हरिद्वार ले गए थे। जहाँ पर उन्होंने चालक की गला दबाकर हत्या कर दी थी और कार लूट कर फरार हो गए थे। कार बुक कर चालक की हत्याकर कार लूट करना और सुपारी लेकर मर्डर करना अंकित और उसके साथियों का पेशा बन गया था। आरोप है कि पकड़े गए बदमाशों ने इसी तरह और भी कई अपराधिक वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। फिलहाल पुलिस ने सभी बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Ad Block is Banned