scriptFarmer News : डीडवाना-कुचामन जिला अलग होने के बाद नागौर जिले को मिला साढ़े 8 लाख हैक्टेयर बुआई का लक्ष्य | After the separation of Didwana-Kuchaman district, Nagaur district got a target of sowing 8.5 lakh hectares | Patrika News
नागौर

Farmer News : डीडवाना-कुचामन जिला अलग होने के बाद नागौर जिले को मिला साढ़े 8 लाख हैक्टेयर बुआई का लक्ष्य

Farmer News : राजस्थान में गत वर्ष बनाए गए 19 नए जिलों के बाद इस बार कृषि विभाग को खरीफ बुआई के लक्ष्य तय करने में काफी जोर आया। डीडवाना-कुचामन नया जिला बनने के बाद नागौर जिले को खरीफ में साढ़े 8 लाख हैक्टेयर की बुआई का लक्ष्य मिला है।

नागौरJun 28, 2024 / 04:35 pm

Omprakash Dhaka

nagaur farmer
Nagaur News : प्रदेश में गत वर्ष बनाए गए 19 नए जिलों के बाद इस बार कृषि विभाग को खरीफ बुआई के लक्ष्य तय करने में काफी जोर आया। यही वजह रही कि खरीफ-2024 के लक्ष्य 26 जून को जारी हो पाए। डीडवाना-कुचामन नया जिला बनने के बाद नागौर जिले को खरीफ में साढ़े 8 लाख हैक्टेयर की बुआई का लक्ष्य मिला है। इसमें सबसे अधिक साढ़े 4 लाख हैक्टेयर की बुआई का लक्ष्य अकेले मूंग का रखा गया है, यानी एक तरफ मूंग और दूसरी तरफ अन्य फसलों को मिलाकर भी 4 लाख हैक्टेयर का लक्ष्य है।
गौरतलब है कि अब तक नागौर जिले को खरीफ में 12 से सवा 12 लाख हैक्टेयर की बुआई का लक्ष्य दिया जाता था, जिसमें डीडवाना-कुचामन जिला भी शामिल था। डीडवाना-कुचामन नया जिला बनने के बाद नागौर को साढ़े 8 लाख हैक्टेयर का लक्ष्य दिया गया है।
nagaur farmer news

खरीफ का लक्ष्य तय

विभाग ने खरीफ बुआई का लक्ष्य जारी कर दिया है। नागौर जिले को कुल साढ़े 8 लाख हैक्टेयर बुआई का लक्ष्य मिला है। इसमें सबसे अधिक साढ़े 4 लाख हैक्टेयर का लक्ष्य मूंग का है।
– हरीश मेहरा, संयुक्त निदेशक, कृषि विभाग, नागौर

मूंग में नागौर का रहेगा दबदबा

अब तक नागौर जिला प्रदेश में मूंग उत्पादित करने वाला सबसे बड़ा जिला था। प्रदेश का करीब 40 फीसदी मूंग केवल नागौर जिले में उगाया जाता था। अब डीडवाना-कुचामन अलग जिला बनने के बाद भी नागौर में सबसे अधिक मूंग उगाया जाएगा। इसकी मुख्य वजह यह है कि मूंग की बुआई मुख्य रूप से खींवसर, मूण्डवा, मेड़ता, डेगाना, जायल व नागौर तहसीलों में ही की जाती है।

Hindi News/ Nagaur / Farmer News : डीडवाना-कुचामन जिला अलग होने के बाद नागौर जिले को मिला साढ़े 8 लाख हैक्टेयर बुआई का लक्ष्य

ट्रेंडिंग वीडियो