scriptArmy Day 2022: Why We Celebrate Indian Army Day On 15 January | Army Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्य | Patrika News

Army Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्य

आज शनिवार 15 जनवरी, 2022 को 74वां सेना दिवस मनाया जा रहा है। आज ही के दिन 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा (Field Marshal KM Cariappa) ने जनरल फ्रांसिस बुचर (General Sir Francis Butcher) से भारतीय सेना की कमान ली थी। 15 जनवरी को नई दिल्ली और सभी सेना मुख्यालयों पर सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन होता है।

नई दिल्ली

Published: January 15, 2022 09:02:05 am

Indian Army Day 2022: देश में हर साल 15 जनवरी को भारतीय थल सेना दिवस ( Army Day 2022) मनाया जाता है। आज शनिवार 15 जनवरी, 2022 को 74वां सेना दिवस मनाया जा रहा है। आज ही के दिन 1949 में फील्ड मार्शल केएम करियप्पा (Field Marshal KM Cariappa) ने जनरल फ्रांसिस बुचर (General Sir Francis Butcher) से भारतीय सेना की कमान ली थी। 15 जनवरी को नई दिल्ली और सभी सेना मुख्यालयों पर सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन होता है। इस मौके पर देश थल सेना की वीरता, उनके शौर्य और कुर्बानियों को याद करता है। इस दिन की शुरुआत इंडिया गेट पर बनी अमर जवान ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने से होती है। सेना के अत्याधुनिक हथियारों और टैंक-मिसाइल, जैसे साजो-सामान प्रदर्शित किए जाते हैं। आइए जाते है कि 15 जनवरी को ही भारतीय सेना दिवस क्यों मनाया जाता है।

Indian Army Day On 15 January
Indian Army Day On 15 January

अलग अगल रेजिमेंट की परेड और झांकियां
हर साल 15 जनवरी को जवानों के दस्ते और अलग-अलग रेजिमेंट की परेड होती है। इनकी झांकियां निकाली जाती हैं। सेना दिवस को हर साल बेहद उत्साह के साथ मनाया जाता है। भारतीय सेना को दुनिया की सबसे ताकतवर सेना में से एक माना जाता है। गोलाबारूद-हथियारों के मामले में भारतीय सेना दुनिया में चौथे स्थाना पर आती है। भारतीय सेना के पास सटीक अग्नि और पृथ्वी बैलिस्टिक मिसाइलें हैं।

15 जनवरी को ही क्यों होता है आर्मी डे
फील्ड मार्शल केएम करियप्पा को आजाद भारत के पहले भारतीय सेना प्रमुख 15 जनवरी, 1949 को नियुक्त किया गया था। यह भारत के इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण घटनाओं में से एक है। 15 जनवरी को हर साल भारतीय सेना दिवस के तौर पर मनाया जाता है। जब करियप्पा सेना प्रमुख बने तो उस समय भारतीय सेना में लगभग 2 लाख सैनिक थे। करियप्पा साल 1953 में रिटायर हो गए थे और 94 साल की उम्र में साल 1993 में उनका निधन हुआ था।

यह भी पढ़ें

आज से नई लड़ाकू वर्दी में दिखेंगे हमारे जवान, सेना दिवस पर थलसेना प्रमुख लेंगे परेड की सलामी

1776 में कोलकाता में हुआ था सेना का गठन
राजा महाराजाओं के दौर में हर शासक के अपने सैनिक होते थे। ईस्ट इंडिया कंपनी ने भारतीय सेना का गठन साल 1776 में कोलकाता में किया। उस दौरान भारतीय सेना ईस्ट इंडिया कंपनी की सैन्य टुकड़ी मानी जाती थी। बाद में ब्रिटिश भारतीय सेना का नाम मिला और अंत में भारतीय थल सेना के तौर पर देश के जवानों को पहचान मिली।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की पहली लिस्ट, 34 उम्मीदवारों को दिया टिकटराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलादिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारMizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताBJP की दूसरी लिस्ट जारी: 85 प्रत्याशियों में 15 महिलाएं, अदिति सिंह रायबरेली, रामवीर उपाध्याय को सादाबाद से टिकट, IPS असीम को मिला कन्नौजकोरोना की रफ्तार से ऑफलाइन हो सकती है 12वीं-10वीं की बोर्ड परीक्षा! CGBSE ने की ये तैयारीBHU के रजत जयंती से जुड़ी गांधी की स्मृतियों को NSUI ने किया याद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.