scriptChhattisgarh CM Bhupesh Baghel slams Centre over Agnipath scheme | अग्निपथ योजना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की केंद्र की खिंचाई, कहा - 'यह आर्मी के साथ मजाक है' | Patrika News

अग्निपथ योजना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की केंद्र की खिंचाई, कहा - 'यह आर्मी के साथ मजाक है'

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सशस्त्र बलों के लिए नई भर्ती योजना 'अग्निपथ' की रक्षा के लिए त्रि-सेवाओं के प्रमुखों को तैनात करने के लिए शनिवार को केंद्र पर हमला बोला। उन्होंने कहा यह सेना के साथ मजाक है।

नई दिल्ली

Published: June 25, 2022 08:44:52 pm

सैन्य बलों में भर्ती की नयी अग्निपथ योजना पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पेंशन और अग्निवीर के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर तीखा हमला किया है। उन्होंने कहा यह सेना के साथ मजाक है। उन्होंने कहा, "पहले लोग 60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त होते थे, अब अग्निवीर योजना में युवा 21 साल की उम्र में सेवानिवृत्त होंगे। यह सेना के साथ मजाक है।" उन्होंने अग्निपथ योजना के तहत जवानों की छह महीने प्रशिक्षण अवधि को भी अपर्याप्त बताया।
अग्निपथ योजना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की केंद्र की खिंचाई, कहा - 'यह आर्मी के साथ मजाक है'
अग्निपथ योजना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की केंद्र की खिंचाई, कहा - 'यह आर्मी के साथ मजाक है'
साथ ही उन्होंने पेंशन को लेकर कहा कि सबसे पहले इन्होंने कर्मचारियों की पेंशन खत्म की। हमने पुरानी पेंशन योजना लागू की तो केंद्र के पास जमा कर्मचारी अंशदान का पैसा नहीं लौटा रहे हैं। ये वन रैंक-वन पेंशन की बात करते थे, अब नो रैंक-नो पेंशन पर आ गए। जब कोई रैंक ही नहीं है तो पेंशन भी नहीं है।
उन्होंने आगे कहा, "आदमी 58 साल में 60 साल में 62 साल में रिटायर होता था। तब तक वे दादा-नाना बन चुके होते थे। अब तो शादी के कार्ड में लिखेगा भूतपूर्व अग्निवीर। 21 साल में ही वह भूत हो जाएगा। छह महीने की ट्रेनिंग और साढ़े तीन साल सर्विस के बाद उनको रिटायर करके क्या देंगे? 12 लाख रुपए। शादी किए, रिसेप्शन में ही 12 लाख खत्म हो जाएंगे।"
सीएम ने आगे कहा, "ये उन देशों के साथ तुलना करते हैं जहां जनसंख्या कम है। कोई सेना में जाना नहीं चाहता। वहां अनिवार्य करना पड़ता है। यहां जनसंख्या की भी कमी नहीं है और सेना में जाने के लिए भी लोग लालायित रहते हैं। यही कारण है कि भारत की जो सेना है उसकी पूरी दुनिया में एक धाक है। उसका लोहा मानते हैं। विपरीत परिस्थितियों में भी यहां की सेना लड़ती है। अब उसका भी राजनीतिकरण कर रहे हैं। सरकार की नीति है और तीनों सेनाओं के चीफ से बचाव में बयान दिलवा रहे हैं।"
मुख्यमंत्री बघले ने अग्निपथ योजना के तहत जवानों की 6 महीने के प्रशिक्षण अवधि को भी अपर्याप्त बताते हुए कहा, "6 महीने की ट्रेनिंग में तो मार्चपास्ट सीखने में लग जाएंगे। लेफ्ट-राइट में पैर कितना उठना चाहिए, उसको सीखते-सीखते और यूनिफार्म पहनना सीखने में 6 महीने हो जाएंगे। पुलिस के जवान का यूनिफार्म और सेना के यूनिफॉर्म में भी बहुत अंतर है। उसको पहनना सीखने में छह महीना बीत जाएगा।"

यह भी पढ़ें

Agnipath Protest: बिहार में BJP विधायक को मिली जान से मारने की धमकी, हाल ही में मिली है Y कैटेगरी की सुरक्षा

सीएम ने कहा जिन लोगों ने परमवीर चक्र प्राप्त किया है, सेना के भूतपूर्व अधिकारी हैं वे लोग कह रहे हैं कि यह सेना के लिए घातक है। सेना के लिए घातक है तो समझ लें कि सीमा के लिए भी नुकसानदेह है। उन्होंने रूस-यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध का उदाहरण देते हुए कहा, "आज रूस की क्या स्थिति है। उनके पास अस्त्र-शस्त्र की कमी नहीं है, लेकिन उसके ठेके के जो सैनिक हैं वे उसे चला नहीं पा रहे हैं। इस कारण यूक्रेन जो एक प्रकार से निहत्था है, उसपर कब्जा भी नहीं कर पाए हैं। लड़ भी नहीं पा रहे हैं ठीक से। आपके पास हथियार होने से क्या होता है। चलाना भी तो आना चाहिए।"

बता दें, केंद्र सरकार ने 14 जून को सैनिकों की भर्ती के लिए एक नई योजना शुरू की। नई योजना के तहत जवानों की भर्ती चार साल के लिए की जाएगी। चार साल बाद 25 फीसदी जवानों को रखा जाएगा और बाकी को 11.71 लाख रुपये के पैकेज के साथ वापस भेजा जाएगा। वे किसी भी पेंशन और ग्रेच्युटी लाभ के हकदार नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें

'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

अरविंद केजरीवाल ने कहा- देश की राजनीति में परिवारवाद और दोस्तवाद खत्म कर भारतवाद लाएंगेMaharashtra Cabinet Expansion: कल हो सकता है शिंदे मंत्रिमंडल का विस्तार, CM आवास पहुंचे देवेंद्र फडणवीस'नीतीश BJP का साथ छोड़े तो हम गले लगाने को तैयार', बिहार में मचे सियासी घमासान पर बोले RJD नेता शिवानंद तिवारीगालीबाज भाजपा नेता पर रखा गया 25 हजार का इनाम, 40 टीमें तलाश में जुटीShirdi Flood: शिरडी में भारी बारिश से हाहाकार, सरकारी विश्राम गृह और साईं प्रसादालय पानी में डूबा, देखें तस्वीरेंझारखंडः जमशेदपुर में माता-पिता की हत्या कर 13 साल की बेटी हुई फरार, खून से सने लाश के साथ हथौड़ा भी बरामदखाटूश्यामजी हादसा: दो शवों की भी हुई शिनाख्त, पीएम मोदी ने जताया दुख, सीएम ने की जांच व मुआवजे की घोषणाMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.