scriptChristmas Celebrations Not Seen In Delhi Amid Omicron Threat | Omicron के खतरे के बीच दिल्ली में Christmas की रौनक फीकी, घरों से कम निकले लोग | Patrika News

Omicron के खतरे के बीच दिल्ली में Christmas की रौनक फीकी, घरों से कम निकले लोग

दिल्ली में कोरोना के साथ-साथ Omicron का खतरा भी लगातार बढ़ रहा है। यही वजह है कि इस वर्ष क्रिसमस की चमक फीकी नजर आई। डीडीएमए की ओर से जारी आदेश के बाद भ्रम के चलते कई लोग गिरजाघरों में नहीं पहुंचे। दिल्ली में बीते 24 घंटे में 180 कोरोना संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं, जो जून के बाद सबसे ज्यादा है।

नई दिल्ली

Published: December 25, 2021 08:00:18 pm

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना ( Coronavirus In Delhi ) के अब तक के सबसे खतरनाक वैरिएंट ओमिक्रॉन ( Omicron Variant ) के मामले बढ़ते जा रहे हैं। राजधानी दिल्ली भी इससे अछूती नहीं है। यहां भी देश में दूसरे सबसे ज्यादा ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या है। यही वजह है कि केजरीवाल सरकार ने कई पाबंदियां लागू कर दी हैं। इन पाबंदियों का असर त्योहारों और नए वर्ष के जश्न पर भी दिखाई दे रहा है। इस बार क्रिसमस ( Chirstmas 2021 ) पर दिल्ली में रौनक फीकी नजर आ रही है। पाबंदियों के चलते लोग ज्यादा घरों से बाहर भी नहीं निकले हैं। कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप के खतरे के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ईसाई समुदाय के लोगों ने शनिवार को सावधानी के साथ क्रिसमस का पर्व मनाया और कम संख्या में लोग गिरजाघरों में पहुंचे।
Christmas Celebrations Not Seen In Deelhi Amid Omicron Threat
भीड़-भाड़ पर लगाई गई रोक

दरअसल कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों और ओमिक्रॉन वैरिएंट के संक्रमण के फैलने के खतरे के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने 22 दिसंबर को ही जिलाधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक के बाद यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था कि राजधानी में क्रिसमस और नववर्ष के जश्न को लेकर कोई जमावड़ा नहीं होगा।

यह भी पढ़ेँः Omicron की चपेट में दुनिया 108 देश, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- भारत में पांच राज्यों ने बढ़ाई सरकार की चिंता

इसके बाद डीडीएमए ने कहा था कि क्रिसमस और नए साल की पूर्व संध्या के अवसर पर राजधानी दिल्ली में धार्मिक स्थल खुले रहेंगे लेकिन कोविड के मुताबिक नियमों का सख्ती से पालन करना होगा।

डीडीएमए के मुताबिक, क्रिसमस और नववर्ष के अवसर पर धार्मिक स्थलों में उत्सवों और प्रार्थनाओं का आयोजन किया जा सकता है और लोगों को भी प्रवेश करने की अनुमति होगी। इस दौरान कोविड-19 संबंधी मानक संचालन प्रक्रियाओं तथा तमाम दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा।
यह भी पढ़ेंः Omicron के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली में दो दिन में लापरवाही पर वसूले 1.5 करोड़ रुपए, FIR भी हुईं दर्ज

घरों से बाहर नहीं निकले कई लोग


दिल्ली के विभिन्न गिरजाघरों में मध्यरात्रि को होने वाली प्रार्थना की बात करें तो रोमन कैथोलिक आर्चडायसी के आर्चबिशप अनिल जोसेफ थॉमस काउटो के मुताबिक इस वर्ष क्रिसमस पर बहुत से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले।

उन्होंने कहा कि भले ही गिरजाघरों में लोगों के आने पर कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन पाबंदियों के बीच डीडीएमए के आदेश को लेकर भ्रम की स्थिति में लोग ज्यादा घरों से नहीं निकले। कोरोना की मौजूदा स्थिति के कारण लोग थोड़े चिंतित हैं। हमने बड़ी संख्या में लोगों को नहीं देखा।

बता दें कि दिल्ली में लगातार कोरोना और ओमिक्रॉन के मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। बीते दिन ही 180 नए कोरोना केस दिल्ली में सामने आने से हड़कंप मच गया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानभारत के कोरोना मामलों में आई गिरावट, पर डरा रहा पॉजिटिविटी रेटIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोककौन हैं भगवंत मान, जाने सबकुछ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.