scriptEntire youth passed in jail for murder, proved innocent after 28 years | जेल में 28 साल बिताने के बाद कोर्ट से बेकसूर साबित हुआ शख्स, जानें क्या है पूरा मामला | Patrika News

जेल में 28 साल बिताने के बाद कोर्ट से बेकसूर साबित हुआ शख्स, जानें क्या है पूरा मामला

बिहार में एक शख्स को हत्या के आरोप में 28 साल पहले गिरफ्तार किया गया था। शख्स के परिजनों ने भी उसे अपराधी मानते हुए उससे रिश्ता तोड़ लिया।

नई दिल्ली

Published: April 22, 2022 12:00:59 pm

बिहार के गोपालगंज जिले में न्‍याय व्‍यवस्‍था की एक अजीब दास्‍तान सामने आई है। अपहरण और हत्या के आरोप में देवरिया के एक युवक को पूरी जवानी गोपालगंज जेल में गुजारनी पड़ी। 28 सालों से जेल में बंद शख्स को कोर्ट ने निर्दोष साबित कर दिया। उत्‍तर प्रदेश निवासी इस शख्‍स को 28 वर्ष की उम्र में गिरफ्तार किया गया था और अब तकरीबन 56 साल की आयु में रिहा किया गया है। कोर्ट का फैसला सुनते ही आरोपित कोर्ट में फूट-फूट कर रो पड़ा।
जेल में 28 साल बिताने के बाद कोर्ट से बेकसूर साबित हुआ शख्स, जानें क्या है पूरा मामला
जेल में 28 साल बिताने के बाद कोर्ट से बेकसूर साबित हुआ शख्स, जानें क्या है पूरा मामला
मामला 1993 का है, जब यूपी के देवरिया के बीरबल भगत को भोरे थाना के हरिहरपुर गांव के रहने वाले सूर्यनारायण भगत के अपहरण व हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। दरअसल, सूर्यनारायण भगत 11 जून 1993 को देवरिया के बनकटा थाना क्षेत्र के टड़वां गांव के रहने वाले युवक बीरबल भगत के साथ मुजफ्फरपुर के लिए घर से निकले थे। उसके बाद से अचानक वो लापता हो गए, परिजन ने काफी तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया।
काफी तलाश करने के बाद 18 जून 1993 को सूर्यनारायण भगत के पुत्र सत्यनारायण भगत के बयान पर भोरे थाना (कांड संख्या-81/93) में मामला दर्ज कर बीरबल भगत को नामजद अभियुक्त बनाया गया। बाद में देवरिया पुलिस ने एक अज्ञात शव को जब्त किया, जिसका यूडी केस दर्ज कर शव को दफना दिया गया था। कुछ दिनों बाद परिजनों ने देवरिया पुलिस से मिली तस्वीर के आधार पर पहचाना कि सूर्यनारायण भगत का ही शव था।
देवरिया की पुलिस ने बीरबल भगत को 27 जनवरी 1994 को एक दूसरे आपराधिक मामले में गिरफ्तार किया उसमें 11 वर्षों तक सजा काटने के बाद भोरे पुलिस ने रिमांड पर लेकर गोपालगंज जेल में बंद कर दिया था। उसे अपराधी मानकर परिजन व रिश्तेदारों ने भी उसे जेल में छोड़ दिया। किसी ने जमानत तक कराने के लिए कोर्ट में अर्जी नहीं दी और न ही कोई जेल में मिलने आया।
केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो रही थी। फास्ट ट्रैक कोर्ट के वर्षों से बंद रहने के कारण इस कांड की सुनवाई वर्षों तक बाधित रही। आखिर में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश की कोर्ट में जब मामला पहुंचा तो कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेकर ट्रायल को पूरा कराने के लिए सुनवाई शुरू की थी। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश-5 की कोर्ट में जब केस ट्रांसफर होकर पहुंचा, तो कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लिया। वहीं, कोर्ट ने पुलिस की चूक पर टिप्पणी किया है।

यह भी पढ़ें

चॉकलेट खाने के लिए दूसरे देश से भारत आता था बच्चा, BSF ने किया अरेस्ट

केस के ट्रायल के दौरान पुलिस ना तो कोर्ट के समक्ष अपना पक्ष रख सकी और ना ही कांड के अनुसंधानकर्ता ही कोर्ट में गवाही के लिए आए। इसके अलावा ना ही पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर पहुंचे और ना ही पुलिस की ओर से चार्जशीट सौंपी गई। अंत में गुरुवार को अभियुक्त को दोषमुक्त पाते हुए बाइज्जत बरी कर दिया। कागजी कार्रवाई पूरा होने के बाद शुक्रवार को बीरबल जेल से छूट जायेगा। कोर्ट का फैसला सुनते ही आरोपित कोर्ट में फूट-फूट कर रो पड़ा।
जेल में रहने के दौरान ही बीरबल के माता-पिता का निधन हो गया और वह उनकी अर्थी को कंधा तक नहीं दे सके। इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर एक निर्दोष नागरिक की जिंदगी तबाह करने की जिम्‍मेदारी कौन लेगा? इस मामले ने न्‍याय तंत्र की मौजूदा व्‍यवस्‍था पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं।

यह भी पढ़ें

बिहार में टूटेगा पाकिस्तान का वर्ल्ड रिकॉर्ड, जानिए क्या है BJP का प्लान

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

पटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनकPetrol-Diesel Prices Today: केंद्र के बाद राज्यों ने घटाए पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितनी हैं आपके शहर में कीमतेंQuad Summit 2022: प्रधानमंत्री मोदी का जापान दौरा, क्वाड शिखर सम्मेलन में बाइडेन से अहम मुलाकात, जानें और किन मुद्दों पर होगी बातDelhi Suicide Case: 'कमरे में घुसने के बाद लाइटर न जलाएं' दीवार पर लिखकर मां-बेटियों ने दी जान, एक साल पहले कोरोना से हुई थी CA पति की मौतGama Pehlwan के 144वें जन्मदिन पर गूगल ने बनाया डूडल, एक दिन में खाते थे 6 देसी मुर्गे और 10 लीटर दूधभाजपा नेता को किया गिरफ्तार, आशियाना ध्वस्त करने पहुंचा था बुलडोजरसाप्ताहिक समीक्षा: सोने-चांदी में तेजी, 2290 रुपए सस्ती हुई चांदी, जानें गाेल्ड की कीमत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.