scriptrajiv gandhi assassin nalini sriharan gets parole for one month | पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्या की करने वाली नलिनी श्रीहरन को मिली एक महीने की पैरोल, तमिलनाडु सरकार ने क्यों लिया ये फैसला? | Patrika News

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्या की करने वाली नलिनी श्रीहरन को मिली एक महीने की पैरोल, तमिलनाडु सरकार ने क्यों लिया ये फैसला?

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या करने वाली नलिनी श्रीहरन को राज्य सरकार ने एक महीने की पैरोल दी है। तमिलनाडु सरकार ने मद्रास उच्च न्यायालय को बताया कि नलिनी की मां की तबीयत खराब है, नलिनी द्वारा किए गए अनुरोध पर सरकार ने यह फैसला लिया है।

नई दिल्ली

Published: December 24, 2021 08:42:17 am

नई दिल्ली। देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या करने वाली नलिनी श्रीहरन को राज्य सरकार ने एक महीने की पैरोल दी है। तमिलनाडु सरकार ने गुरुवार को मद्रास उच्च न्यायालय को यह जानकारी दी। राज्य सरकार का कहना है कि पूर्व पीएम राजीव गांधी हत्याकांड के दोषियों में से एक नलिनी श्रीहरन को एक महीने की पैरोल दी गई है। दरअसल, नलिनी की मां पिछले काफी दिनों से बीमार हैं, वहीं नलिनी की ओर से अपनी मां से मिलने और उनका ख्याल रखने के लिए सरकार से पैरोल देने का अनुरोध किया गया था। जिसे सरकार ने काफी मंथन के बाद स्वीकार कर लिया है। इसके साथ ही सरकार ने हाई कोर्ट को भी इस संबंध में जानकारी दी है।
rajiv gandhi assassin nalini sriharan gets parole for one month
rajiv gandhi assassin nalini sriharan gets parole for one month
दो दशकों से जेल में बंद है नलिनी
बता दें कि राजीव गांधी की हत्या के लिए नलिनी दो दशकों से अधिक समय से आजीवन कारावास की सजा काट रही है। वहीं तमिलनाडु सरकार ने फरवरी 2020 में मद्रास उच्च न्यायालय को सूचित किया था कि राज्य ने राज्यपाल को राजीव गांधी हत्याकांड के सभी सात दोषियों को रिहा करने की सिफारिश की थी। हालांकि कोर्ट ने इसे स्वीकार नहीं किया।
यह भी पढ़ें

जानिए आखिर किस हाल में हैं पूर्व पीएम राजीव गांधी के हत्यारे



राजीव गांधी हत्याकांड में चार श्रीलंका के लोग शामिल
राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को हत्या की गई थी। इस मामले में नलिनी के अलावा मामले में उसके पति मुरुगन, सुथिनथिरा राजा उर्फ संथान, एजी पेरारीवलन, रॉबर्ट पायस, जयकुमार और रविचंद्रन दोषी हैं। वहीं इन दोषियों में से चार यानि श्रीहरन, संथान, रॉबर्ट पायस और जयकुमार श्रीलंका के नागरिक हैं। सभी दोषियों को टाडा अदालत ने राजीव गांधी की हत्या मामले में मौत की सजा सुनाई थी। हालांकि बाद में मौत की सजा को आजीवन कारावास बना दिया गया।
यह भी पढ़ें

भारत के पूर्व पीएम राजीव गांधी की आत्मघाटी हमले में हत्या



नलिनी ने दी थी अपनी जान लेने की धमकी
जानकारी के मुताबिक नलिनी ने साल 2020 में जेल में अपने एक सह-कैदी के साथ कथित रूप से खुद को मारने की धमकी दी थी। बताया गया कि नलिनी और एक अन्य दोषी को वेल्लोर में महिलाओं के स्पेशल सेल में रखा गया है। गौरतलब है कि भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई, 1991 को चेन्नई के पास श्रीपेरंबुदूर में एक चुनावी रैली के दौरान एलटीटीई के आत्मघाती हमलावर ने हत्या कर दी थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.