scriptSharad Pawar yet again summoned by Bhima Koregaon Judicial commission | Bhima Koregaon मामले में NCP प्रमुख शरद पवार को फिर से भेजा गया समन | Patrika News

Bhima Koregaon मामले में NCP प्रमुख शरद पवार को फिर से भेजा गया समन

Bhima Koregaon case: कोरेगांव भीमा जांच आयोग ने फिर से NCP प्रमुख शरद पवार को 5 और 6 मई को गवाह के रूप में पेश होने के लिए तलब किया है। इससे पहले भी उन्हें पेश होने के लिए तलब किया गया था परंतु वो उपस्थित नहीं हो सके थे।

Updated: April 27, 2022 11:10:48 pm

Koregaon Bhima Commission of Inquiry : कोरेगांव भीमा न्यायिक आयोग ने बुधवार को फिर से एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को 5 और 6 मई को गवाह के रूप में आयोग के सामने पेश होने का समन जारी किया है। दरअसल, पवार ने 21 फरवरी को विस्तृत जानकारी के साथ आयोग के समक्ष एक अतिरिक्त हलफनामा दाखिल करने के लिए समय मांगा था। कुछ दिन पहले NCP प्रमुख ने अपना अतिरिक्त हलफनामा दाखिल किया था जिसके बाद समन जारी किया गया है।
Sharad Pawar yet again summoned by Bhima Koregaon Judicial commission
Sharad Pawar yet again summoned by Bhima Koregaon Judicial commission
बता दें कि इसी वर्ष कोरेगांव-भीमा जांच आयोग ने शरद पवार को 23 और 24 फरवरी को हाजिर होने को कहा था। तब शरद पवार ने एक वीडियो जारी कर जानकारी दी थी कि वो जांच आयोग के समक्ष पेश नहीं हो सकेंगे। अब फिर से जांच आयोग ने शरद पवार को अपना समन भेजा है।

कोलकाता हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीश जेएन पटेल और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्य सचिव सुमित मलिक का दो सदस्यीय जांच आयोग कोरेगांव भीमा हिंसा की जांच कर रहा है। पुणे पुलिस के अनुसार, कोरेगांव भीमा की 1818 की लड़ाई की द्विशताब्दी वर्षगांठ के दौरान 1 जनवरी 2018 को वॉर मेमोरियल के पास जाति समूहों के बीच हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में तब एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 10 पुलिसकर्मी समेत कई लोग घायल हो गए थे।
यह भी पढ़ें

हनुमान चालीसा विवाद में शरद पवार की एंट्री, फडणवीस पर किया तीखा हमला

पुणे पुलिस ने आरोप लगाया था कि 31 दिसंबर, 2017 को पुणे में आयोजित 'एल्गार परिषद सम्मेलन' में "भड़काऊ' भाषणों ने कोरेगांव भीमा के आसपास हिंसा को जन्म दिया था। पुणे पुलिस ने ये भी दावा किया था कि माओवादियों ने एल्गार परिषद की घटना का समर्थन किया था और तब भड़काऊ भाषण दिए गए थे जिससे अगले दिन कोरेगांव भीमा में कथित तौर पर हिंसा हुई थी। इस मामले में कार्यकर्ता सुधा भारद्वाज और तेलुगु कवि वरवर राव भी आरोपियों में शामिल हैं।


सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपएAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात- रिपोर्ट'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.