scriptwho is geetanjali shree novel tomb of sand won Booker Prize 2022 | कौन हैं गीतांजलि श्री, जिनकी नॉवेल रेत की समाधि को मिला अंतर्राष्ट्रीय बुकर प्राइज | Patrika News

कौन हैं गीतांजलि श्री, जिनकी नॉवेल रेत की समाधि को मिला अंतर्राष्ट्रीय बुकर प्राइज

International Booker Prize 2022: हिंदी की जानी मानी लेखिका गीतांजलि श्री को अंतर्राष्ट्रीय बुकर प्राइज 2022 से सम्मानित किया गया है। गीतांजलि श्री, माई, रेत की समाधि , खाली जगह सहित पांच उपन्यास लिख चुकी हैं। वहीं बुकर पुरस्कार जीतने के बाद वह इससे सम्मानित होने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं।

Published: May 27, 2022 11:46:29 am

International Booker Prize 2022: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में रहने वाली हिंदी उपन्यासकार गीतांजलि श्री को रेत की समाधि के लिए अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार 2022 से सम्मानित किया गया है, जिसके बाद वह इसे जीतने वाली पहली भारतीय महिला बन गई हैं। यह पुरस्कार दुनिया भर में उपन्यास के सर्वश्रेष्ठ अनुवादित कृति के लिए दिया जाता है। आपको बता दें कि गीतांजलि श्री ने इस उपन्यास में भारत के विभाजन के बारे में लिखा है, जो पति की मृत्यु के बाद एक बुजुर्ग महिला के ऊपर लिखा गया है।
who is geetanjali shree novel tomb of sand won Booker Prize 2022
who is geetanjali shree novel tomb of sand won Booker Prize 2022
बुकर पुरस्कार ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए एक लिंक शेयर किया है, जिसमें बुक से जुड़ी कुछ बाते लिखी हुई है। इस बुक को लेकर अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार के अध्यक्ष फ्रैंक वाईन ने कहा है कि यह भारत और विभाजन का एक चमकदार उपन्यास है, जिसकी मंत्रमुग्धता और उग्र करुणा युवा, पुरुष, महिला, परिवार और राष्ट्र को एक बहुरूपदर्शक में बुनती है। आइए जानते हैं कौन हैं गीतांजलि श्री जिनको अंतर्राष्ट्रीय बुकर प्राइज से सम्मानित किया गया है।

मां के पहले नाम को अपने नाम के साथ जोड़ा

उपन्यासकार गीतांजलि श्री उत्तर प्रदेश के मैनपुरी रहने वाली हैं, जिनका जन्म 12 जून 1957 को उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में हुआ था। उनकी प्रारंभिक पढ़ाई उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हुई। गीतांजलि श्री ने स्रातक दिल्ली के लेडी श्रीराम कालेज किया और फिर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से इतिहास में एमए किया। इसके साथ ही उन्होंने सूरत के सेंटर फार सोशल स्टडीज में पोस्ट डॉक्टरल शोध किया है। आपको बता दें कि उनका नाम गीतांजलि पांडे था लेकिन उन्होंने अपनी मां के पहले "श्री" नाम को अपने नाम के लास्ट में जोड़ लिया।

1987 में प्रकाशित हुई पहली कहानी 

गीतांजलि श्री की पहली कहानी बेलपत्र 1987 में हंस में प्रकाशित हुई। इसके बाद उनकी एक के बाद एक दो और कहानियां हंस में छपीं। अब तक उन्होंने पांच उपन्यास लिखा है जिसमें माई, हमारा शहर उस बरस, तिरोहित, खाली जगह, और रेत की समाधि शामिल है। इसके साथ ही उन्होंने पांच कहानी भी लिखी है जिसमें अनुगूंज, वैराग्य, माँ और साकूरा, यहां हाथी रहते थे और प्रतिनिधि कहानियां शामिल हैं।

कई उपन्यास अनुवादित होकर हो चुके हैं प्रकाशित

उपन्यासकार गीतांजलि श्री दे द्वारा लिखा गया उपन्यास रेत की समाधि के अलावा माई, खाली जगह को भी अनुवाद करके प्रकाशित किया जा चुका है। खाली जगह का फ्रेंच, जर्मन और अंग्रेजी में अनुवाद हो चुका है। वहीं माई व रेत की समाधि भी अंग्रेजी में अनुवादित करके प्रकाशित किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें

पहली बार हिंदी लेखिका को मिला अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार, एक मॉं की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यास

 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने 'जिंदा लाश' वाले बयान पर दी सफाई, बोले-उनका जमीर मर गया है, तो उसके बाद क्या बचता है?Presidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र में सियासी संकट के बीच संजय राउत को ईडी ने भेजा समन, 28 जून को पूछताछ के लिए बुलायाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.