श्रीलंका की इस पहाड़ी में अब तक सुरक्षित है रावण का शव, जानिए क्या है कारण

बाल्मीकि रामायण में कहा गया है कि रावण की मौत के बाद भगवान राम ने विभीषण को लंका का राजा बना दिया था।

By:

Published: 29 Sep 2017, 10:20 PM IST

नई दिल्ली: श्रीलंका और रामायण लेकर एक ताजा रिसर्च सामने आई है जिसमें करीब 50 ऐसे स्थानों की खोज का दावा किया गया है जिनका संबंध रामायण से है। इसी रिसर्च में यह भी दावा किया गया है कि एक पहाड़ में बनी गुफा के अन्दर अभी भी रावण का शव सुरक्षित है।

वैसे तो हिन्दू धर्म में आस्था रखने वाले अधिकांश लोग यह मानते हैं कि त्रेतायुग से संबंधित रामायण और भगवान राम से जुड़े कई निशान और सबूत आज भी पड़ोसी देश श्रीलंका में मौजूद हैं। नवरात्र पूरे होने के बाद शुक्रवार को नवमी व उसके अगले दिन विजया दशमी पर्व (दशहरा) मनाया जाएगा।

पुरानी मान्यता है कि नवरात्र के 10वें दिन ही भगवान राम ने रावण का वध कर उस पर विजय प्राप्त की थी। लेकिन रावण के शव का क्या हुआ था यह अब तक रहस्य बना हुआ है। बाल्मीकि रामायण में कहा गया है कि रावण की मौत के बाद भगवान राम ने विभीषण को लंका का राजा बना दिया था। राजा बनने के बाद विभीषण ने अपने सभी परिजनों का अंतिम संस्कार कराया था। लेकिन अब जो रिसर्च आई है वह कुछ अलग है।

श्रीलंका के रैगला जंगल में है स्थित है पहाड़ी
रिसर्च में कहा गया है कि श्रीलंका में रैगला के जंगलो में एक चट्टान नुमा पहाड़ी है। इस पहाड़ी में एक गुफा है और उस गुफा के अन्दर रावण का शव आज भी सुरक्षित रखा है। यह शोध श्रीलंका के रामायण रिसर्च सेंटर और पर्यटन विभाग ने मिलकर किया है।

इसी गुफा के अन्दर तपस्या करता था रावण
शोध में दावा किया गया है कि इस गुफा में जाकर रावण तपस्या किया करता था। रिसर्च में यह भी दावा किया गया है कि रैगला पहाड़ी मे आठ हजार फीट की ऊंचाई पर यह गुफा बनी है जहां रावण का शव रखा गया है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned