PM Mementos Auction: इस आईएएस ने जिस रैकेट से जीता टोक्यो में पदक उसकी नीलामी बोली पहुंची 10 करोड़

PM Mementos Auction: सुहास एलवाई से जब इस बारे में बात की गई तो उनका कहना है कि यह लोगों का सम्मान है जो कि इतनी ऊंची बोली लगा रहे हैं।

By: Nitish Pandey

Published: 18 Sep 2021, 02:06 PM IST

PM Mementos Auction: केंद्र सरकार की वेबसाइट पीएम ममेंटोज पर पीएम को मिले गिफ्ट की ई-नीलामी शुरू की गई है। इस नीलामी में नोएडा के डीएम और टोक्यो पैरालिंपिक्स में बैडमिंटन में रजत पदक विजेता सुहास एलवाई का रैकेट भी शामिल है। नीलामी के पहले ही दिन डीएम के रैकेट की बोली 10 करोड़ तक पहुंच गई है जबकि इसका बेस प्राइज 50 लाख रखा गया था। अभी 7 अक्टूबर की शाम 5 बजे तक ई-नीलामी खुली है, जिसमें कोई भी वेबसाइट पर बोली लगा सकता है। इस रैकेट की बोली लगने से जितना भी पैसा आएगा, वह भारत सरकार के नमामि गंगे प्रॉजेक्ट पर खर्च किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : Viral Video: ब्रेकरी में रस पर थूक लगाकर पैक करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

बोले डीएम 'यह लोगों का सम्‍मान है, मुझे बहुत खुशी है'

डीएम सुहास एलवाई से जब इस बारे में बात की गई तो उनका कहना है कि यह लोगों का सम्मान है जो कि इतनी ऊंची बोली लगा रहे हैं। जैसे ही उन्हें वॉट्सऐप पर किसी से इस बात की जानकारी शुक्रवार को मिली तो पहले उन्हें यकीन ही नहीं हुआ। हालांकि जब कन्फर्म जानकारी आई तो उन्हें प्रसन्नता हुई।

बेहतरीन अधिकारियों में होती है गिनती

नोएडा डीएम के पद पर तैनात सुहास एलवाई की गिनती प्रदेश के बेहतरीन आईएएस अधिकारियों में होती है। इसके साथ ही वह उम्दा बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। 2018 से वे लगातार नेशनल टूर्नामेंट में यूपी का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इसके अलावा वे नेशनल में महाराष्ट्र, पंजाब, वेस्ट बंगाल सहित एमपी को हरा चुके हैं। सॉफ्टवेयर इंजीनियर से आईएएस बने सुहास एलवाई ने 2016 में पेइचिंग में हुई एशियन पैरा बैडमिंटन टूर्नामेंट में परचम लहराया था। उन्होंने फाइनल में इंडोनेशिया के हरे सुशांतो को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। तब सुहास बतौर डीएम आजमगढ़ में तैनात थे।

पत्नी भी हैं तेजतर्रार अधिकारी

बता दें कि सुहास दिव्यांग हैं, लेकिन उन्होंने अपनी इस कमजोरी को अपना ताकत बना रखा है। नोएडा डीएम रहते हुए उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीता है। उनकी पत्नी रितु सुहास की गिनती भी तेज तर्रार अधिकारियों में होती है।

BY: KP Tripathi

यह भी पढ़ें : UP Election 2022: पश्चिमी यूपी से होगा कांग्रेस का चुनावी शंखनाद, गुपचुप तरीके से चल रही बड़ी जनसभाओं की तैयारी

Nitish Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned