कांग्रेस और बसपा के फॉर्मूले को भाजपा ने भी अपनाया, पार्टी संगठन में होने जा बड़ा बदलाव

खबर की मुख्य बातें-

-उपचुनाव को लेकर सभी पार्टियां तैयारियों में जुटी हैं

-बसपा और कांग्रेस ने यूपी उपचुनाव को लेकर महिलाओं पर विश्वास जताया

-भाजपा अब संगठन में बदलाव करने जा रही है

By: Rahul Chauhan

Updated: 05 Sep 2019, 04:05 PM IST

नोएडा। अगामी 2022 उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुना को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जहां विपक्षी पार्टियां लगातार सरकार पर आरोप लगा रही है तो वहीं प्रदेश में सत्ताधारी भाजपा लोगों को सरकार द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर लुभाने की कोशिश कर रही है। इस सबके बीच चर्चा है कि बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस द्वारा लिए गए फैसलों के बाद भाजपा भी उसी राह पर है।

यह भी पढ़ें : उपचुनाव से पहले सीएम योगी करने जा रहे बड़ा काम, विपक्षी पार्टियों की उड़ी नींद, भाजपाईयों के खिल उठे चेहरे

दरअसल, विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस द्वारा प्रियंका गांधी को यूपी का प्रभारी बनाए जाने और बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा फिर से मजबूत तेवर दिखाए जाने के बाद भाजपा ने भी अपने संगठन में महिलाओं का आरक्षण बढ़ा दिया है। अब भाजपा में संगठन चुनावों में बूथ से लेकर मंडल तक की कार्यकारिणी व पदाधिकारियों में संख्या के आधार पर महिलाओं को आरक्षण दिया जाएगा। इसके लिए प्रत्येक बूथ समिति में 4 से लेकर 10 पद महिलाओं के लिए आरक्षित किए गए हैं, वहीं मंडल में भी अधिकतम 20 पद महिलाओं को मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी के इस जिले में कहर बनकर बरसी बारिश, 24 घंटे में ले ली दो लोगों की जान, देखें वीडियो

चार श्रेणी में बांटा गया बूथ का ढांचा

संगठन चुनाव में लगे पार्टी सूत्रों का कहना है कि बूथ के ढांचे में चार श्रेणियां तय की गई हैं। 25 से 49 सदस्यों वाली बूथ समिति में अध्यक्ष व 12 सदस्यों का चुनाव होगा। इनमें 4 महिलाएं शामिल होंगी। इसी तरह 50 से 149 सदस्यों वाली समिति में अध्यक्ष व 18 सदस्य होंगे। इनमें भी 6 महिला सदस्य शामिल हैं। इस समिति की कार्यकारिणी में एक पद महिला को देना होगा। तीसरी श्रेणी में 150 से 299 सदस्यों की समिति में बूथ अध्यक्ष के साथ ही 24 सदस्य होंगे। इसमें भी 8 महिला होंगी। इस श्रेणी के पदाधिकारियों में दो महिलाओं को शामिल करना जरूरी होगा। चौथी श्रेणी में 300 या इससे ज्यादा सदस्य वाली समिति में बूथ अध्यक्ष के साथ 30 सदस्य चुने जाएंगे। इनमें 10 महिलाएं होंगी। इनमें से तीन को पदाधिकारियों में जगह मिलेगी।

बूथ समिति के चुनाव को लेकर भेजा गया पत्रा

बता दें कि भाजपा के उत्तर प्रदेश चुनाव प्रभारी आशुतोष टंडन ने सभी मंडल व जिलाध्यक्षों को कार्यक्रम की लिस्ट भेज दी है। जिसके तहत यूपी में बूथ समिति के चुनाव 19 से 22 सितंबर, मंडल अध्यक्ष के चुनाव 19 व 20 अक्टूबर व जिलाध्यक्ष के चुनाव 16 नवंबर को कराने का कार्यक्रम तय किया गया है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रत्येक मंडल के लिए अध्यक्ष व अधिक से अधिक 60 सदस्य चुने जाएंगे। जिनमें 20 महिलाएं होंगी। वहीं जब मंडल की कार्यकारिणी का गठन होगा तो उसमें भी पांच महिलाओं को पद देना अनिवार्य होगा। इसी तरह की रणनीति जिले की कार्यकारिणी में भी शामिल की जाएगी। इस बार कई जगह महिलाएं जिलाध्यक्ष की दौड़ में भी शामिल होंगी।

यह भी पढ़ें : Azam Khan के बाद Mayawati के करीबी रहे इस पूर्व BSP एमएलसी पर कस रहा शिकंजा

गौतमबुद्ध नगर में भी शुरू हुई तैयारियां

गौरतलब है कि पश्चिमी यूपी के क्षेत्रीय मंत्री संगठन अजेय व जिला प्रभारी लज्जारानी गर्ग ने ग्रेटर नोएडा में गौतमबुद्ध नगर जिले के सांसद डॉ. महेश शर्मा, जिलाध्यक्ष विजय भाटी, दादरी विधायक तेजपाल नागर और क्षेत्रीय मंत्री ठाकुर हरीश के साथ बैठकर बूथ व मंडल चुनावों की रणनीति तय की है। बैठक में तय किया गया है कि जेवर विधानसभा के चार मंडलों की 7 सितंबर को और दादरी विधानसभा के 7 मंडलों की कार्यशाला 8 सितंबर को होगी।

BJP
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned