Patrika Exclusive: मंदिर के विरोध में उतरे भाजपा के ये विधायक, जाने,क्यों

Ashutosh Pathak

Publish: Jul, 13 2018 03:43:31 PM (IST) | Updated: Jul, 13 2018 03:58:37 PM (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
Patrika Exclusive: मंदिर के विरोध में उतरे भाजपा के ये विधायक, जाने,क्यों

भाजपा विधायक बोले- अवैध है यह मंदिर, तीर्थ स्थल के तौर पर प्रचार गलत

लोनी/नोएडा। केपी त्रिपाठी
गाजियाबाद के मुरादनगर में छोटा हरिद्वार नाम का एक मंदिर है। गंगनहर के किनारे स्थित इस मंदिर की पहचान बीते कुछ सालों से एक तीर्थ स्थल के रूप में हो रही है। लोग मानते हैं कि यह जगह हरिद्वार (हर की पैड़ी) का छोटा स्वरूप है और इसी लिए इसे छोटा हरिद्वार नाम दिया गया है। मान्यता यह भी है कि जो श्रद्धालु अपने पूर्वजों की अस्थियों को हरिद्वार में प्रवाहित नहीं कर पाते, वे यहां छोटा हरिद्वार में प्रवाहित कर सकते हैं। लेकिन भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने इस मंदिर पर न सिर्फ सवाल उठाया है बल्कि दावा किया है कि यहां नहाने वाले लोगों को गोताखोर जबरदस्ती नहर में डूबो देते हैं। "पत्रिका" से खास बातचीत में विधायक ने कहा कि बीते एक महीने में करीब एक दर्जन लोगों को इस नहर मेंं डूबोकर मार दिया गया।

देखें वीडियो- छोटे हरिद्वार' में डूबने से हो रही लोगों की मौत

गाजियाबाद की लोनी विधानसभा सीट से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने छोटा हरिद्वार मंदिर को अवैध बताया है। उन्होंने दावा किया कि इस जगह को गलत तरीके से कुछ लोग हरिद्वार के समकक्ष तीर्थ स्थल के रूप में प्रचारित कर रहे हैं। उन्होंने कहा, यह तो नहर है और नहर को हरिद्वार के रूप में प्रचारित करना लोगों की आस्था से खिलवाड़ करना है।

विधायक के अनुसार, कुछ श्रद्धालु गंगा जल के भ्रम में अपने पूर्वजों की अस्थियों का यहां तर्पण भी कर रहे हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। यह गंगा नदी नहीं बल्कि, एक नहर है। इस नहर में हर 8 दिन में पानी खत्म हो जाता है। वहां हरिद्वार कैसे हो सकता है। सिर्फ गंगा नदी के पानी में ही वह ताकत है, जहां कई वर्षों तक भी गंगा जल खराब नहीं होता।

कमाई का जरिया बनाया गया इसे -
विधायक ने आरोप लगाया कि कुछ लोगों ने छोटा हरिद्वार को कमार्ई का जरिया बना लिया है। पहले इस जगह को हरिद्वार के समकक्ष तीर्थ स्थल के रूप में प्रचारित किया और बाद में श्रद्वालुओं से मनमाने तरीके से धन वसूलने लगे। उन्होंने कहा कि यहां नहाना भी खतरनाक है, क्योंकि कोई घाट विकसित नहीं किया गया है। यहां पानी की गहराई भी करीब 15 फुट है, जिससे डूबने का खतरा बढ़ जाता है। प्रशासन को चाहिए कि यहां बोर्ड लगवाकर नहाने पर तुरंत रोक लगाए।

ये भी पढ़ें: छोटे हरिद्वार' में डूबने से हो रही लोगों की मौत पर भाजपा विधायक ने किया सनसनीखेज खुलासा

 

बीते एक महीने में एक दर्जन लोग डूब गए -
भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने कहा कि उनकी विधानसभा सीट लोनी से कई परिवारों के लोगों की यहां डूबने से मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि एक परिवार के मुताबिक, वहां के गोताखोर उन लोगों पर नजर रखते हैं, जो जेवर पहनकर नहर में स्नान कर रहे हैं। ये गोताखोर नहाते समय उनका पैर पकड़कर नीचे खींच लेते हैं और डूबने से जब उनकी मौत हो जाती है, तो उनके शव को नीचे पत्थर में बंधी रस्सी से बांध देते हैं, जिससे वह ऊपर नहीं आ सके। काफी देर बाद जब परिजन मिन्नतें करते हैं, तब पैसे लेकर उनके शव को नीचे से निकालते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों एक लड़की वहां नहा रही थी। थोड़ी देर बाद वह चिल्लाने लगी कि कोई उसका पैर पकड़कर नीचे खींच रहा था, लेकिन तेजी से झकझोरने पर वह छूट गया। बाद में उसने देखा कि उसके गले की चेन भी गायब है।

पूरे मामले की गंभीरता से जांच हो-
विधायक के अनुसार, बीते कुछ दिनों में लोगों के यहां अचानक डूबने की घटना तेजी से बढ़ी है। इससे मेरे मन में भी संदेह बढ़ा, जिसके बाद मैंने इस संबंध में एक पत्र जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी को लिखा है कि वह पूरे मामले की जांच कराएं। मेरे पत्र को संज्ञान में लेकर जिलाधिकारी ने मोदी नगर के एसडीएम को जांच सौंपी है।

Ad Block is Banned