नोटबंदी के बाद जिस व्यापारी से मिली थी 25 करोड़ की पुरानी करेंसी, वह निकला कोरोना पॉजिटिव

Highlights:

-व्यापारी परिवार समेत दिल्ली के अस्पताल में भर्ती
-दिल्ली रोड स्थित राजकमल एनक्लेव में रहता है व्यापारी
-2017 में करेंसी के साथ पकड़ा गया था

By: Rahul Chauhan

Updated: 24 Jul 2020, 10:56 AM IST

मेरठ। केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी के बाद जिस व्यापारी के घर से 25 करोड की पुरानी करेंसी मिली थी, अब वह कोरोना संक्रमित मिला है। व्यापारी का इलाज दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है। युवक रियल एस्टेट का बड़ा कारोबारी है। इस कारोबारी के यहां नोटबंदी में 25 करोड़ की पुरानी करेंसी पकड़ी गई थी। यह करेंसी यूपी की सीमा के रास्ते नेपाल भेजी जा रही थी। व्यापारी दिल्ली रोड स्थित राजकमल एनक्लेव में रहता है।

यह भी पढ़ें: फैक्ट्री मालिक के हत्याकांड में फरार 25 हजार का इनामी गिरफ्तार, मृतक की राडो घड़ी बरामद

बेहतर इलाज के लिए उन्हें दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। व्यापारी का नाम संजीव मित्तल है। व्यापारी के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद उसके परिवार का भी कोरोना टेस्ट लिया गया है। व्यापारी और उसका परिवार गत गुरूवार केा ही दिल्ली के लिए रवाना हो चुका था। वहीं उसके परिवार के अन्य लोगों और घर में काम करने वालों को भी क्वारंटीन कर दिया गया है। राजकमल एनक्लेव कालोनी में स्वास्थ्य विभाग ने सैनिटाइजेशन का काम करवाया।

29 दिसंबर 2017 को मिले थे दस बोरों में 25 करोड़

बता दें कि नोटबंदी के बाद 29 दिसंबर 2017 को मेरठ के दिल्ली रोड पर राजकमल एंक्लेव में एक प्रॉपर्टी डीलर के ऑफिस पर छापा मारकर पुलिस ने 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी बरामद की थी। मौके से चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। यह ऑफिस प्रॉपर्टी डीलर संजीव मित्तल का था। जो पुलिस का छापा पड़ते ही फरार हो गया था। पुलिस के मुताबिक दिल्ली के एक व्यक्ति के जरिए कमीशन पर पुराने नोट बदलने का सौदा तय हुआ था। 29 दिसंबर 2017 की दोपहर दिल्ली रोड पर राजकमल एंक्लेव में मंदिर के सामने स्थित प्रॉपर्टी डीलर संजीव मित्तल के कार्यालय पर छापा मारा गया था।

यह भी पढ़ें: रक्षा बंधन को खास बनाने के लिए डाक विभाग ने बहनों के लिए जारी किया स्पेशल लिफाफा, देखें वीडियो

ऑफिस के भीतर प्लास्टिक के 10 बोरों में तकरीबन 25 करोड़ रुपए की पुरानी करेंसी रखी हुई थी। पुलिस ने सौदा कराने वाले दिल्ली के व्यक्ति सहित चार आरोपियों को मौके से गिरफ्तार किया था। पुलिस का दावा था कि नोटबंदी के बाद से अब तक की यह सबसे बड़ी रिकवरी थी। इन नोटों का उप्र के रास्ते नेपाल भेजे जाने की तैयारी चल रही थी। लेकिन ऐन मौके पर पुलिस ने छापामारकर नोट बरामद कर लिए थे।

coronavirus
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned