पाकिस्तान: NAB ने फर्जी बैंक खातों के मामले में पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को गिरफ्तार किया

पाकिस्तान: NAB ने फर्जी बैंक खातों के मामले में पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को गिरफ्तार किया

Siddharth Priyadarshi | Updated: 11 Jun 2019, 07:22:18 AM (IST) पाकिस्तान

  • पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हैं आसिफ अली जरदारी
  • राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने की बड़ी कार्रवाई
  • इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने आज ही खारिज की थी अंतरिम जमानत बढ़ाने की अपील

इस्लामाबाद। राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ( NAB ) ने सोमवार को पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी ( Asif Ali Zardari ) को फर्जी बैंक खातों के मामले में गिरफ्तार किया। पूर्व अध्यक्ष और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी को गिरफ्तार करने के लिए राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के अधिकारियों की एक टीम सोमवार शाम को इस्लामाबाद के जरदारी हाउस पहुंची।

बदतर हुए पाकिस्तान के हालात, पीएम इमरान खान ने दिया 30 जून तक बेनामी सम्पति बताने का अल्टीमेटम

आसिफ अली जरदारी गिरफ्तार

इस्लामाबाद में जरदारी हाउस में हुई गिरफ्तारी के बाद जरदारी को एक काले रंग की गाड़ी में ले जाते हुए देखा गया। गिरफ्तारी के कुछ ही घंटे पहले इस्लामाबाद उच्च न्यायालय की पीठ ने उनकी जमानत बढ़ाने की याचिका खरिज कर दी थी। न्यायमूर्ति अमीर फारूक और न्यायमूर्ति मोशीन अख्तर कयानी ने जरदारी और उनकी बहन फरियाल तालपुर की उस याचिका को खारिज कर दिया जिसमें फर्जी बैंक खातों के मामले में उनकी अंतरिम जमानत की अवधि बढ़ाने की मांग की गई। हाईकोर्ट ने अपने आदेश जारी करते हुए राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) के अधिकारियों को आसिफ जरदारी और फरीदपुर तालपुर की गिरफ्तारी की अनुमति दी। अब जरदारी और तालपुर के पास सुप्रीम कोर्ट में आदेश की अपील करने का विकल्प है।

NAB Letter

मंजूर पश्तीन: वह पठान जिसने पाकिस्तान को घुटने टेकने पर मजबूर किया

हाईकोर्ट ने अंतरिम जमानत बढ़ाने की अपील खरिज की

मामला दोनों नेताओं की निजी कंपनियों को कथित तौर पर फर्जी बैंक खातों के जरिए करोड़ों रुपये के लेन-देन से संबंधित है। इससे पहले, NAB के अधिकारियों की एक टीम ने आसिफ अली जरदारी के गिरफ्तारी वारंट के संसद भवन में नेशनल असेंबली स्पीकर को सूचित किया। पूर्व राष्ट्रपति को गिरफ्तार करने के लिए आईएचसी के आदेशों के बाद संघीय राजधानी में बड़ी संख्या में पुलिस और एनएबी के अधिकारी जरदारी हाउस पहुंचे। पुलिस ने शांतिपूर्ण गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए जरदारी हाउस से जाने वाले सभी मार्गों को बंद कर दिया। हालाँकि उनके घर के बहार सैकड़ों की संख्या में पार्टी नेता और समर्थक पहुँच गए।

zardari house

पाकिस्तान में IED ब्लास्ट: 3 सैन्य अधिकारियों समेत चार की मौत, राष्ट्रपति अल्वी और PM इमरान ने जताया शोक

नेशनल असेंबली को दी गई जानकारी

जियो न्यूज का दावा है कि NAB अपने ब्यूरो के लॉकअप में आसिफ अली जरदारी को रखेगा। उम्मीद है कि एनएबी फरयाल तालपुर को हिरासत में नहीं लेगा। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के नेता शहबाज शरीफ ने नेशनल असेंबली अध्यक्ष असद क़ैसर से आग्रह किया कि वे आसिफ अली ज़रदारी के लिए विशेष आदेश जारी करें। नेशनल असेंबली में नेता प्रतिपक्ष शहबाज शरीफ ने संसद में कहा, "जरदारी ने हर मौके पर एनएबी के सामने खुद को पेश किया। एनएबी को इसकी सराहना करनी चाहिए थी फिलहाल जरदारी की गिरफ्तारी की जरूरत नहीं थी।"

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned