विदेशी लेखकों पर इतने मेहरबान क्यों हैं पाक पीएम इमरान खान

विदेशी लेखकों पर इतने मेहरबान क्यों हैं पाक पीएम इमरान खान

Shweta Singh | Publish: Jul, 09 2019 07:43:00 AM (IST) पाकिस्तान

  • रूसी लेखक एंडी रैंड को कोट कर फंसे पाक पीएम इमरान खान (Imran Khan)
  • पहले भी कई बार दिखा है इमरान का विदेशी लेखकों (Foreign authors) से प्रेम

लाहौर। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( Pak PM Imran khan ) एक बार फिर विवादों में घिरते नजर आ रहे हैं। भ्रष्टाचार पर रूसी लेखक एंडी रैंड ( Ayn Rand ) के कथन को उद्घृत करने पर एक बार फिर वह विपक्ष के निशाने पर हैं। पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने उन पर देश की इज्जत पर बट्टा लगाने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदशनों की चेतावनी दी है। इससे पहले भी इमरान खान विदेशी लेखकों की बातें ट्वीट कर विवाद में पड़ चुके हैं।

नए विवाद को जन्म

अब सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर पाक पीएम को केवल विदेशी लेखकों की पंक्तियां की क्यों पसंद आती हैं। विशेषकर वह पंक्तियां जो उनको पाक की पूर्व सरकारों को घेरने का मौका देती हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बार एक बार फिर रूसी-अमेरिकी लेखक और दार्शनिक रैंड के भ्रष्टाचार पर विचार साझा किए हैं। रविवार को अपने ट्विटर हैंडल पर इमरान ने अपनी टिप्पणियों के साथ रैंड के लेखों से एक कथन शेयर किया। उसके बाद उन्होंने नीचे लिखा "पीटीआई (पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ) सरकार को विरासत में मिले पाकिस्तान के लिए सटीक"।

क्या यह है इमरान का नया पाकिस्तान?

ट्विटर पोस्ट में खान ने सोशल मीडिया से पोस्ट की गई स्क्रीनशॉट का कैप्शन साझा किया। इमरान खान ने यह भी लिखा कि रैंड ने यह लगभग 60 साल पहले लिखा था लेकिन यह कथन आज भी सटीक है।" इमरान खान ने रैंड को यह कहते हुए उद्धृत किया, "जब आप देखते हैं कि शासन सहमति से नहीं, बल्कि मजबूरी से किया जाता है, जब आप देखते हैं कि कुछ बेहतर करने के लिए आपको उन लोगों से अनुमति लेनी होगी जो कुछ भी नहीं करते हैं, जब आप देखते हैं कि देश का पैसा पानी की तरह बह रहा है। जब आप देखते हैं कि भ्रष्टाचार से लोगों की आमदनी बढ़ रही है और कानून उनके खिलाफ आपकी रक्षा नहीं करते हैं, बल्कि आपके खिलाफ उनकी रक्षा करते हैं, जब आप देखते हैअन कि भ्रष्टाचारी पुरस्कृत किया जा रहा है और ईमानदार की बलि चढ़ाई जा रही है तो आप जान लीजिये कि समाज बर्बाद हो गया है।”

पाकिस्तान: इमरान खान के 'सेलेक्ट' या 'इलेक्ट' होने पर विवाद, कितना सच है विपक्ष का दावा

Ayn Rand

रैंड के उद्धरण को कलर्स मार्करों के साथ रेखांकित कर इमरान एक नए विवाद को जन्म दे गए । इमरान का ट्वीट पाकिस्तान में कई लोगों के लिए एक आश्चर्य हैं, जहां साक्षरता दर लगभग 58 प्रतिशत है। असल में इमरान भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों के खिलाफ अपने अभियान का समर्थन करने के लिए हर संभव साधन का उपयोग कर रहे है। जब से वह देश के प्रधान मंत्री बने हैं, पाकिस्तान तीव्र आर्थिक संकट में डूब गया है। इससे बड़े पैमाने पर मूल्य वृद्धि, अधिक विदेशी ऋण, अधिक कर और बड़े पैमाने पर मुद्रास्फीति बढ़ी है।

टेरर फंडिंग पर सख्त हुआ पाकिस्तान, हाफिज सईद समेत कई बड़े आतंकियों पर केस दर्ज

कौन हैं एनी रेंड

एनी रेंड रूसी अमरीकी उपन्यासकार थे। उन्होंने कई काल्पनिक और गैर-फिक्शन किताबें लिखीं। वह अपने दो सबसे अधिक बिकने वाले उपन्यासों के लिए जानी जाती हैं: द फाउंटेनहेड और एटलस श्रुग्ड। वह एक दार्शनिक प्रणाली विकसित करने के लिए भी जानी जाती हैं, जिसका नाम उन्होंने वस्तुवाद रखा। रैंड का मूल नाम अलिसा ज़िनोविवना रोसेनबूम था और उनका जन्म 2 फरवरी 1905 को सेंट पीटर्सबर्ग, रूस में हुआ था। बाद में वह अमरीका आ गईं जहां न्यूयॉर्क में 6 मार्च, 1982 को उनका निधन हो गया था।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned