करतारपुर कॉरिडोर: 2019-20 के बजट में पाकिस्तान ने आवंटित किए 100 करोड़ रुपये

करतारपुर कॉरिडोर: 2019-20 के बजट में पाकिस्तान ने आवंटित किए 100 करोड़ रुपये

Anil Kumar | Publish: Jun, 12 2019 02:20:03 AM (IST) | Updated: Jun, 12 2019 01:17:12 PM (IST) पाकिस्तान

  • भारत और पाकिस्तान मिलकर करतारपुर कॉरिडॉर का निर्माण कर रहे हैं ।
  • इस परियोजना में लगभग 300 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
  • 26 नवंबर को उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने भारत में जबकि 28 नवंबर को पीएम इमरान खान ने पाक में इस परियोजना की नींव रखी।

इस्लामाबाद। आर्थिक तंगहाली से गुजर रहे पाकिस्तान ( Pakistan ) को संभालने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान ( Prime Minister Imran Khan ) कई तरह के प्रयास कर रहे हैं, लेकिन सफलता हाथ नहीं लग रही है। हालांकि इमरान खान की सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर ( Kartarpur Corridor ) को लेकर नए बजट में कोई कटौती नहीं की है और मंगलवार को पेश संघीय बजट 2019-20 में बहुप्रतीक्षित करतारपुर गलियारे के विकास के लिए 100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया हुआ है । बता दें कि यह गलियारा पाकिस्तान के करतारपुर ( Kartarpur ) में दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर ( Gurdaspur ) जिले के डेरा बाबा नानक गुरूद्वारे से जोड़ेगा और भारतीय सिख तीर्थयात्रियों को वीजा-मुक्त आवाजाही की सुविधा प्रदान करेगा। तीर्थयात्रियों को भारत सरकार से गुरु नानक देव ( Guru nanak dev ) द्वारा 1522 में स्थापित करतारपुर साहिब ( Kartarpur Sahib ) जाने की अनुमति लेनी होगी।

करतारपुर कॉरिडोर

संयुक्त राष्ट्र में इजराइल के समर्थन में भारत ने किया मतदान, पुराने रुख में दिखा बदलाव

सदन में पेश किया गया बजट

पाकिस्तान के राजस्व राज्य मंत्री हम्माद अजहर ने संसद में वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए बजट पेश किया, जो कि 1 जुलाई से शुरू होगा। बजट में सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर के विकास के लिए संघीय बजट में 100 करोड़ रुपये रखे हैं। जियो टीवी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि अगले वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के विकास कार्यक्रम (पीएसडीपी) के तहत करतारपुर के बुनियादी ढांचे विकास व भूमि अधिग्रहण के लिए धन का उपयोग किया जाएगा। योजना आयोग, योजना मंत्रालय, विकास और सुधार विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, धार्मिक मामलों के मंत्रालय और इंटरफेथ हार्मनी मंत्रालय के अनुसार परियोजना की अनुमानित लागत 300 करोड़ रुपये है।

भारत की पाकिस्तान से अपील- PM मोदी की किर्गिस्तान यात्रा के लिए खोलें पाक हवाई क्षेत्र

 

करतारपुर कॉरिडोर में भारत-पाक की हिस्सेदारी

बता दें कि पाकिस्तान करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब से भारतीय सीमा तक गलियारे का निर्माण करेगा, जबकि दूसरे हिस्से में भारत के पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक से सीमा तक भारत द्वारा निर्मित किया जाएगा। आधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान द्वारा बनाए जा रहे चार किलोमीटर के हिस्से पर लगभग 50 फीसदी विकास कार्य पूरा हो चुका है। मालूम हो कि पिछले साल 26 नवंबर को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने पंजाब के गुरदासपुर जिले के मान गांव में एक कार्यक्रम में डेरा बाबा नानक - करतारपुर साहिब कॉरिडोर (अंतर्राष्ट्रीय सीमा तक) की आधारशिला रखी। जबकि 28 नवंबर को, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने 4 किलोमीटर के गलियारे की आधारशिला रखी जो 2019 के अंत से पहले पूरा होने की उम्मीद है।

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned