Pakistan: पंजाब सरकार ने 100 से अधिक Books पर लगाया बैन, देश के Map में नहीं दर्शाया गया POK

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान के पंजाब प्रांत ( Punjab Province of Pakistan ) के सरकारी स्कूलों में पढ़ाए जाने वाले 100 से अधिक किताबों पर सरकार ने प्रतिबंध ( Pakistan Ban Over 100 Textbooks ) लगा दिया है।
  • पंजाब सर्टिफिकेट और टेक्स्टबुक बोर्ड ( PCTB ) के प्रबंध निदेशक राय मंज़ूर नासिर ने कहा कि कुछ किताबों में पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना ( Pakistan's founder Mohammad Ali Jinnah ) और राष्ट्रीय कवि अल्लामा मुहम्मद इक़बाल ( Allama Muhammad Iqbal ) के जन्मतिथि सही नहीं लिखी गई थी।

By: Anil Kumar

Updated: 26 Jul 2020, 04:18 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर ( Pakistan Occupied Kashmir ) यानी POK को लेकर भारत-पाकिस्तान ( India pakistan Dispute ) में दशकों से विवाद है। POK भारत का अभिन्न हिस्सा है, पर पाकिस्तान ने इसपर अवैध कब्जा जमा रखा है और इसपर अपना दावा करता है। लेकिन पाकिस्तान के पंजाब प्रांत ( Pakistan Punjab Province ) की सरकारी किताबों में पाकिस्तान के इस नापाक हरकत की पोल एक बार फिर खुल गई है।

दरअसल, पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के सरकारी स्कूलों में पढ़ाए जाने वाले 100 से अधिक किताबों में छपे देश के राजनैतिक मानचित्र में POK को शामिल नहीं किया गया है। यानी कि मैप में ये स्पष्ट तौर पर बताया गया है कि POK का पाकिस्तान का हिस्सा नहीं है।

India के खिलाफ China की नई साजिश! Bangladesh-Pakistan में गठजोड़ कराने की कोशिश में ड्रैगन

अब जब ये मामला सामने आया तो सरकार ने आनन-फानन में कार्रवाई करते हुए इन सभी 100 से अधिक किताबों पर प्रतिबंध लगा दिया ( Pakistan Ban Over 100 Books ) गया है। फौरी तौर पर किताबों पर प्रतिबंध लगाने की वजहों के बारे में ये बताया गया है कि इसमें 'ईशनिंदा और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर ( POK ) को देश का हिस्सा नहीं दिखाने जैसी आपत्तिजनक सामग्री' शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक, इन किताबों में से कई अंतर्राष्ट्रीय प्रकाशकों की हैं। इससे पहले पिछले महीने ही ईशनिंदा के आरोप लगाते हुए पंजाब विधानसभा के प्रस्ताव के आलोक में ब्रिटिश-अमरीकी लेखक लेस्ली हेजलटन ( British-American writer Leslie Hazleton ) की किताब को पंजाब में प्रतिबंध कर दिया गया था।

जिन्ना व इकबाल की जन्मतिथि गलत छपी थीं

पंजाब सर्टिफिकेट और टेक्स्टबुक बोर्ड ( PCTB ) के प्रबंध निदेशक राय मंज़ूर नासिर ने कहा कि कुछ किताबों में पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना ( Pakistan's founder Mohammad Ali Jinnah ) और राष्ट्रीय कवि अल्लामा मुहम्मद इक़बाल ( National Poet Allama Muhammad Iqbal
) के जन्म की सही तारीख नहीं लिखी गई थी। इसके अलावा कुछ पुस्तकों में दो-राष्ट्र सिद्धांत ( Two-Nation Theory ) के खिलाफ कंटेंट लिखी गई थी।

नासिर ने कहा कि 30 समितियों ने सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली करीब 10,000 पुस्तकों की समीक्षा की है। उनमें से ऑक्सफोर्ड, कैम्ब्रिज, लिंक इंटरनेशनल पाकिस्तान, पैरागॉन बुक्स द्वारा प्रकाशित 100 से अधिक किताबों में आपत्तिजनक सामग्री पाए गए हैं। समितियों की सिफारिश के बाद उन तमाम किताबों को बैन कर दिया गया है।

किताबों को बाजार से किया जाएगा जब्त

नासिर ने कहा कि समिति ने बैन किए गए तमाम किताबों को बाजार से जब्त करने का आदेश जारी कर दिया है। अब अगले 6 महीने के अंदर अन्य पाठ्यपुस्तकों की समीक्षा और निरीक्षण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार ऐसी किताबें जिन्में देश के खिलाफ ही आपत्तिजनक कंटेंट हो उसे बच्चों को पढ़ाने की इजाजत कभी नहीं देगी।

Pakistan: PM Imran Khan के 7 सहयोगियों के पास दोहरी नागरिकता, विपक्ष ने खड़े किए सवाल

आपको बता दें कि इससे पहले कोरोना महामारी ( Coronavirus Epidemic ) के आंकड़ों को दर्शाने के लिए बनाए गए वेबसाइट में देश के मैप में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को भारत का हिस्सा दिखाया गया था। जब ये मामला सोशल मीडिया ( Social Media ) पर ट्रेंड करने लगा तो पाकिस्तान सरकार ने फौरन इसे ठीक करने का आदेश दिया और कहा कि तकनीकी गड़बड़ी के कारण ऐसा हुआ था।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned