Pakistani Migrants पर सख्त हुई UK सरकार, हजारों को वापस भेजने की तैयारी

Pakistani Migrants पर सख्त हुई UK सरकार, हजारों को वापस भेजने की तैयारी

Shweta Singh | Updated: 19 Jun 2019, 04:21:16 PM (IST) पाकिस्तान

  • हजारों पाकिस्तानी प्रवासियों (Pakistani Migrants) के वीजा की अवधि हो चुकी है समाप्त
  • UK Govt ने पाक विदेश मंत्री से की बात, संबंधित संधि पर साइन करने की योजना

इस्लामाबाद। भारत और अमरीका के बाद अब ब्रिटेन भी पाकिस्तान पर सख्त होता नजर आ रहा है। ब्रिटिश सरकार ( UK government ) ने उन पाकिस्तानी प्रवासियों ( Pakistani migrants ) को देश वापस भेजने का फैसला किया है, जिनके वीजा की अवधि खत्म हो चुकी है। इस बारे में पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ( Pak FM Shah Mahmood Qureshi ) ने जानकारी दी है। कुरैशी के मुताबिक यूके ने पाकिस्तान से इससे संबंधित एक संधि ( Visa Treaty ) पर हस्ताक्षर करने को कहा है। बता दें कि ब्रिटेन में इस वक्त हजारों की संख्या में ऐसे प्रवासी पाकिस्तानी रह रहें हैं, जिनके वीजा की अवधि खत्म समाप्त हो गई है।

ब्रिटिश गृह सचिव साजिद जाविद से कुरैशी ने की चर्चा

कुरैशी ने बताया कि उन्होंने हाल ही में इस संबंध में ब्रिटिश गृह सचिव साजिद जाविद से इस बारे में चर्चा की है। कुरैशी ने ब्रिटिश सरकार के इस कदम को समर्थन देते हुए कहा कि इससे 'सच्चे' लोगों को यूके का वीजा हासिल करने में आसानी होगी। कुरैशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'हम ने इस बारे में बात की है। यह सही तरह से वीजा अप्लाई करने वाले लोगों के लिए मददगार साबित होगा। इससे पाकिस्तान को फायदा होगा।

International Yoga Day का भारत ही नहीं दुनियाभर पर चढ़ा खुमार, अमरीका समेत इन देशों में खास तैयारियां

Pakistani Migrants in UK

वीजा संधि के साथ-साथ प्रत्यर्पण संधि

वीजा पर संधि के साथ ही कुरैशी की योजना है कि पाकिस्तान और ब्रिटेन के बीच प्रत्यर्पण से संबंधित भी एक संबंधित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि,'यह दोनों देशों के बीच अभी तक की सबसे बड़ी बाधा है। हमें दोनों देशों की जेल में मौजूद एक-दूसरे के देशों के कैदियों के स्थानांतर करने के लिए भी इस संधि की आवश्यकता है।

एक्शन मोड में अमित शाह : चार्ज लेते ही आतंक के सफाए और पाक को सबक सिखाने की तैयारी!

ishaq dar

US Iran tension: मध्य पूर्व में 1000 अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती करेगा अमरीका

पूर्व पाकिस्तानी वित्त मंत्री को इशाक डार का प्रत्यपर्ण विवाद

आपको बता दें कि दोनों देशों के बीच इस मुद्दे पर विवाद बीते साल की गर्मियों में गहराया था। 2018 में ब्रिटेन ने प्रत्यर्पण संधि के अभाव में पूर्व पाकिस्तानी वित्त मंत्री को इशाक डार को पाक प्रत्यर्पित करने से मना कर दिया था। डार को भ्रष्टाचार के एक मामले में जारी जांच के सहयोग के लिए पाकिस्तान वापस लौटना था।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned