scriptMahesh Navami 2024 : शहर में गूंजा भगवान महेश का जयकारा, पुष्पवर्षा से जगह-जगह स्वागत | Patrika News
पाली

Mahesh Navami 2024 : शहर में गूंजा भगवान महेश का जयकारा, पुष्पवर्षा से जगह-जगह स्वागत

पाली शहर में माहेश्वरी समाजबंधुओं की ओर से निकाली गई शोभायात्रा

पालीJun 15, 2024 / 07:01 pm

Suresh Hemnani

Mahesh Navami 2024 : शहर में गूंजा भगवान महेश का जयकारा, पुष्पवर्षा से जगह-जगह स्वागत

शोभायात्रा में नृत्य करती महिलाएं व युवतियां।

Mahesh Navami 2024 : माहेश्वरी समाज की ओर से शनिवार को महेश नवमी श्रद्धा व उल्लास से मनाई गई। समाजबंधुओं ने भगवान भोलेनाथ का पूजन व अभिषेक कर खुशहाली की कामना की। नाडी मोहल्ला स्थित समाज भवन में हवन कर शीश नवाया। बैण्ड बाजों की मधुर धुन के साथ शोभायात्रा निकाली।
महेश नवमी को लेकर सुबह नाडी मोहल्ला समाज भवन में हवन किया। समाज के श्रद्धालुओं ने वेद मंत्रों की ध्वनि के साथ आहुतियां देकर भगवान शंकर से खुशहाली की कामना की। इसके बाद बैण्ड बाजों की मधुर धुन और शिव ही सत्य है शिव है सुंदरम…माहेश्वरी हैं हम…स्वर के साथ शोभायात्रा निकाली गई। जो जर्दा बाजार, सर्राफा बाजार, फतेहपुरिया बाजार, पानी दरवाजा, व्यंक्टेश मार्ग होते हुए रामनगर महेश वाटिका पहुंच विसर्जित हुई। वहां जिला कलक्टर एनएल मंत्री की मौजूदगी में महादेव की आरती की गई।

महाकाल का किया गुणगान

शोभायात्रा में गले में रुद्राक्ष की माली, भगवा कुर्ता, भाल पर त्रिपुंड, हाथों में डमरू सहित ढोल व अन्य वाद्य यंत्र बजाते महिलाओं व पुरुषों ने शिव तांडव स्त्रोत के श्लोकों का उच्चारण किया तो हर कोई भक्ति में लीन हो गया। प्रवीण कुमार सोमानी चेरीटेबल ट्रस्ट की ओर से सजी महाकाल की झांकी के पीछे युवाओं के श्लोकों का उच्चारण करने से ऐसा लगा मानो उज्जैन से महाकाल पाली आ गए है।

महिलाओं ने किया नृत्य

शोभायात्रा में महिलाओं ने ढोल की थाप व थाली की झनकार पर नृत्य किया। बोलो रे बेलियो अमृत वाणी… के स्वर से माहौल गूंजता रहा। शोभायात्रा का जैन युवा संगठन, अग्रवाल समाज, नगर परिषद सहित अन्य समाजों व संस्थाओं की ओर से स्वागत किया। शोभायात्रा में सजी रामेश्वरम, मां काली आदि की झांकियां आकर्षण का केन्द्र रही।

महाप्रसादी में महिला शक्ति ने दी सीख

महेश वाटिका में आयोजित महाप्रसादी में महिला शक्ति ने अनूठी सीख दी। वहां हर डस्टबिन के पास महिला संगठन अध्यक्ष शांति माहेश्वरी व सचिव आशा भूतड़ा के नेतृत्व में महिलाएं खड़ी रही और लोगों को एक दाना भी झूठा नहीं छोड़ने दिया। उनको जीवन में भी झूठा नहीं छोड़ने की सीख दी। महोत्सव में अध्यक्ष रविमोहन भूतड़ा, महामंत्री भूवनेश काबरा, उपाध्यक्ष दिलीप सारड़ा आदि मौजूद रहे।

सहयोगकर्ताओं का किया स्वागत

महोत्सव व समाज में सहयोग करने वालों, झांकी सजाने वालों आदि का स्वागत किया। बादशाह का झण्डा गजानन मंदिर के जीर्णोंद्धार के लिए समाजबंधुओं ने बढ़चढ़ कर सहयोग किया। इस दौरान कोषाध्यक्ष शरद कालानी, लक्ष्मीकांत लाहौटी, गुरुचरण हेड़ा, मधुसुदन लाखोटिया, मदनमोहन राठी, बालमुकंद राठी, राधेश्याम राठी, युवा संगठन अध्यक्ष राजेन्द्र केला, सचिव रोहित बिड़ला आदि मौजूद रहे।

Hindi News/ Pali / Mahesh Navami 2024 : शहर में गूंजा भगवान महेश का जयकारा, पुष्पवर्षा से जगह-जगह स्वागत

ट्रेंडिंग वीडियो