रेस्त्रा में हिन्दी बोलने पर उड़ाया मजाक तो लिख दी अंग्रेजी में 11 नॉवेल

रेस्त्रा में हिन्दी बोलने पर उड़ाया मजाक तो लिख दी अंग्रेजी में 11 नॉवेल

2011 में सत्यपाल चंद्रा ने 24 साल के उम्र में अपनी पहली नॉवेल The Most Eligible Bachelor लिखी थी

पटना। दिल्ली के किसी रेस्टोरेंट में बैठे एक लड़के ने हिंदी में वेटर को ऑर्डर दिया तो वेटर ने उसका मजाक उड़ा दिया। इस बात से खुन्नस में आए सख्श ने 6 महीने में अंग्रेजी सीख कर 11 नॉवेल लिख डाली।

जी हां ये कहानी है बिहार के नक्सल प्रभावित जिले गया के मल्हारी निवासी सत्यपाल चंद्रा की। चंद्रा का घर अपराध प्रभावित क्षेत्र में आता है। जहां अभी भी उनके माता पिता रहा करते है। ऐसे इलाके से निकलकर चंद्रा ने जो काम किया है वह देश के युवाओं के लिए एक आदर्श की तरह है। चंद्रा की कहानी बताती है कि अंग्रेजी कोई हौवा नहीं है, अगर हम मेहनत करे तो अंग्रेजी ही क्या कई अन्य भाषा भी सीख सकते हैं। साथ ही साथ चंद्रा ने एक प्रेरणा दी कि हिन्दी माध्यम से पढ़े लड़के भी अंग्रेजी में नॉवेल लिख कर बेस्टसेलरर्स बन सकते हैं।

2011 में सत्यपाल चंद्रा ने 24 साल के उम्र में अपनी पहली नॉवेल The Most Eligible Bachelor लिखी थी। आतंकवाद, प्यार और युवाओं पर आधारित यह पहली नॉवेल ही बेस्टसेलर बन गई। पहली नॉवेल की सफलता के बाद इन्होंने 10 और नॉवेल लिख डाली। इन 10 में 6 नॉवेल को चंद्रा ने 2012 में ही लिख डाली।

सत्यपाल चंद्रा के किताबों में धर्म, साम्प्रदायिकता, आतंकवाद, युवा सोच, क्राइम, ड्रामा के साथ-साथ प्यार और रोमांस का बेहतरीन तालमेल होता है।

सत्या ने अपनी स्कूली पढाई झारखंड से करने के बाद गया के अनुग्रह नारायण कॉलेज से किया। इसके बाद वो हर बिहारी की तरह आईएएस बनने के लिए दिल्ली चले गए। दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्हें एक प्रतिष्ठित कंपनी में नौकरी मिल गई। लेकिन चंद्रा का मन कहीं और ही लगता था वो नौकरी में कम लिखने में ज्यादा आनंद पाते थे।

बिहार के ग्रामीण इलाके से आने वाले चंद्रा ने करफ्शन, जातिवाद, अपराध, बेरोजगारी और गरीबी को काफी नजदीक से देखा है। यही वजह है कि उनकी किताबों में युवा सोच, सपने और देश समाज के घिनौने लछ भी साथ-साथ चलते हैं।

सत्यापाल की नॉवेल When Heavens Falls Down साम्प्रदायिकता, लव जेहाद, मेडिकल प्रोफेशन में करप्शन जैसे मुद्दों पर लिखी गई है। इस किताब को लेकर खूब बवाल भी हुआ था। मुस्लिम संगठनों ने लेखक को जान से मारने की धमकी भी दी थी। किताब पर हुए बवाल जैसी घटनाओं पर सत्यपाल कहते हैं कि लोगों की मानसिकता अभी भी बदली नहीं है। सत्यपाल कहते हैं कि मैं हिन्दूू हूं लेकिन मै मानवता के धर्म को मानता हूं।

सत्यपाल नॉवेल राइटर होने के साथ-साथ मोटीवेशनल स्पीकर भी है। अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक कंपनी भी चलाते है जिसका नाम एक्सप्लोरेशन वर्ल्ड है। इसके साथ ही चंद्रा ऑनली लाउडेस्ट के संस्थापक भी हैं।

अब चंद्रा को बॉलीवुड से स्क्रिप्ट और गाने लिखने के ऑफर भी मिले है और इंन्होंने इसपर काम करना भी शुरू कर दिया हैं।
Ad Block is Banned