जिलाधिकारी ने चलाई तबादला एक्सप्रेस, पैरवी में जुटे सचिव

जिलाधिकारी ने चलाई तबादला एक्सप्रेस, पैरवी में जुटे सचिव

Amit Sharma | Updated: 11 Jul 2019, 04:16:12 PM (IST) Pilibhit, Pilibhit, Uttar Pradesh, India

डीएम वैभव श्रीवास्तव ने सख्ती का रुख अपनाया, डीपीआरओ से सचिवों की सूची तलब की और 16 सचिवों का तबादला अपने स्तर से दूसरों ब्लॉकों में कर दिया।

पंचायत सचिव अब पैरवी करा कर अपने ट्रांसफर को रुकवाने में लग गए हैं।

पीलीभीत। जिलाधिकारी के आदेश के बाद हुए तबादले में अब महकमे में खलबली मच गई है, तबादलों के आदेश निरस्त कराने के लिए अब सचिव माननीयों की शरण में जाने लगे हैं, सिफारिश के बाद 3 सचिवों के तबादले निरस्त भी कर दिए गए। जानकारी के मुताबिक एक ही ब्लॉक में लंबे समय तक जमे हुए सचिवों के ट्रांसफर किए गए थे ट्रांसफर ऑर्डर निकलते ही महकमे में खलबली मच गई। पंचायत सचिव अब पैरवी करा कर अपने ट्रांसफर को रुकवाने में लग गए हैं।

यह भी पढ़ें- अचानक गौशाल पहुंचे इस यंग IAS अधिकारी को देख मची खलबली, दौड़े-दौड़े पहुंचे नगर निगम अधिकारी

पंचायत राज विभाग ने सचिवों को मनमाने तरीके से ग्राम पंचायतें आवंटित कर दीं। जानकारी होने पर डीएम वैभव श्रीवास्तव ने विवाद पर सख्ती का रुख अपनाया, डीपीआरओ से सचिवों की सूची तलब की और 16 सचिवों का तबादला अपने स्तर से दूसरों ब्लॉकों में कर दिया। इससे सचिवों के बीच खलबली मच गई। अगले ही दिन से सिफारिशों का दौर शुरू हो गया। तबादला सूची में शामिल पूरनपुर में तैनात राजीव प्रकाश का अमरिया, अवनीश का बीसलपुर से मरौरी, वीरेंद्र कुमार का ललौरीखेड़ा से बरखेड़ा के लिए किया गया तबादला निरस्त भी कर दिया गया। इधर, पूरनपुर में तैनात सचिव सचिन सक्सेना, पूरन सिंह राना समेत करीब सात सचिवों को रिलीव तो कर दिया गया है पर इन्होंने कार्यभार नहीं संभाला है। इनके अलावा कई सचिव तबादले को रुकवाने के लिए सेटिंग में लगे हैं।

यह भी पढ़ें- दूसरी शादी करने के लिए गर्भपात करा पति ने घर से निकाला, न्याय न मिलने पर इच्छा मृत्यु की गुहार

निकटता के चलते सचिवों पर मेहरबान बीडीओ
एक ही ब्लॉक में बरसों से तैनात सचिवों की बीडीओ से निकटता जगजाहिर है, इसके चलते कई सचिव आदेश के बाद भी रिलीज़ नही हो पाए हैं।

यह भी पढ़ें- सात महीने बाद कब्र से निकाला गया युवक का शव, परिजनों ने कोतवाल पर लगाए गंभीर आरोप, जानिए पूरा मामला!

खंड विकास अधिकारियों की आख्या पर जिन तीन सचिवों के तबादले निरस्त हुए हैं, उन पर एडीओ पंचायत का चार्ज है, जिनका तबादला किए जाने से कार्य प्रभावित होनी की आशंका जताई गई है। डीएम के आदेश का अनुपालन करते हुए सभी को नए ब्लॉकों में ज्वॉइन करने के सख्त आदेश दिए गए हैं। ऐसा नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
-रमेश चंद्र पांडेय, सीडीओ

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned