आशुतोष ने भाजपा पर बोला हमला, कहा- मोदी से जुड़ने के बाद से ब्राह्मणों के बुरे दिन शुरू हो गए

आशुतोष ने भाजपा पर बोला हमला, कहा- मोदी से जुड़ने के बाद से ब्राह्मणों के बुरे दिन शुरू हो गए

Dhirendra Mishra | Publish: Sep, 07 2018 12:29:56 PM (IST) राजनीति

कांग्रेस ने भाजपा को उसके ही खेल में उलझा दिया है । अब इसका लाभ कांग्रेस को मिलता दिखाई देने लगा है।

नई दिल्‍ली। गुरुवार को सवर्णों का देशव्‍यापी आंदोलन के बाद इस वोट बैंक को लेकर सियासी दलों में राजनीति चरम पर है। इस बीच आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता आशुतोष ने कहा कि ब्राह्मण हमेशा से कांग्रेस के असली वोटर रहे हैं । भाजपा ने आजादी के बाद के दशकों में ब्राह्मणों को हड़पने की कोशिश की । जैसे ही ब्राह्मणों ने कांग्रेस का साथ छोड़ा उसकी हालत खराब हुई । जब तक कांग्रेस के साथ वो सत्ता में रही उनके बुरे दिन कभी नहीं आए। लेकिन भाजपा से जुड़ते ही उनके बुरे दिन शुरू हो गए हैं।

अचानक जागा कांग्रेस प्रेम
आपको बता दें कि हाल ही में सीएम अरविंद केजरीवाल के ओर से उपेक्षा का शिकार होने के बाद पूर्व आप नेता ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था। उसके बाद से वो कुछ दिनों तक चुप रहे। लेकिन उनके ट्वीट से साफ झलकता है कि अब उनके अंदर कांग्रेस का प्रेम जाग उठा है। यही कारण है कि अपने ट्वीट में वो कांग्रेस का खुलकर पक्ष लेने लगे हैं। उन्‍होंने एक अन्‍य ट्वीट में कहा है कि कांग्रेस ने भाजपा को उसके ही खेल में उलझा दिया है । इसका लाभ कांग्रेस को मिलता दिखाई देने लगा है।

सुरजेवाला ने दिया था ये बयान
कांग्रेस के मीडिया प्रभारी और हरियाणा के कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में आ गए हैं। सोमवार को हरियाणा के कुरुक्षेत्र में ब्राह्मण सम्मेलन में उन्होंने कहा कि कांग्रेस के खून में ब्राह्मण समाज का डीएनए है। जब उनसे मीडिया की ओर से यह सवाल पूछा गया कि राहुल गांधी की तस्वीर तथा तिरंगे व कांग्रेस पार्टी के झंडे के साथ ब्राह्मण सम्मेलन का आयोजन क्यों किया जा रहा है? उसका जवाब देते हुए उन्‍होंने सोमवार को कहा कि कांग्रेस ऐसी पार्टी है, जिसके खून में ब्राह्मण समाज का डीएनए है। कांग्रेस अध्यक्ष की कैलाश मानसरोवर यात्रा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने अकेले भोल नाथ की यात्रा शुरू की।

परशुराम के नाम संस्‍कृति महाविद्यालय
कार्यक्रम के दौरान उन्‍होंने भगवान परशुराम के नाम पर संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना की घोषणा की। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण कल्याण बोर्ड का गठन कर प्रति वर्ष 100 करोड़ रुपए का बजट रखा जाएगा, जिससे चार प्रतिशत ब्याज पर ब्राह्मण समाज के बेरोजगारों को सॉफ्ट लोन और छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। एमडी यूनिवर्सिटी रोहतक और सीडीएलयू सिरसा में पंडित परशुराम, पंडित लक्ष्मीचंद और पंडित भगवात दयाल शर्मा के नाम पर तीन चेयर की स्थापना की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि आजादी की लड़ाई के पहले और बाद में अपने बहुत योगदान हैं। पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, मदन मोहन मालवीय, पंडित चंद्रशेखर आजाद, बाल गंगाधर तिलक, पंडित मोतीलाल नेहरु, पंडित जवाहरल लाल नेहरु और अब राहुल गांधी नेतृत्व को आगे बढ़ा रहे हैं।

Ad Block is Banned